Loading...

CHAT के बजाए STUDY को दिए 3 घंटे और MPPSC टॉप, चक्की वाले का बेटा डिप्टी कलेक्टर बन गया | INSPIRATIONAL STORY

यदि किसी यंग बॉय के पास अच्छी नौकरी हो तो नौकरी में 8 घंटे बिताने के बाद क्या करेगा। स्वभाविक है, परिवार को वक्त देगा, दोस्तों के साथ टाइम स्पेंड करेगा। कम से कम सोशल मीडिया पर तो डेली अपडेट के लिए आएगा ही लेकिन SECL में माइनिंग इंजीनियरिंग असिस्टेंट मैनेजर के पद पर पदस्थ हर्षल चौधरी ने ऐसा नहीं किया। वो जॉब से लौटते ही इंटरनेट तो ऑन करता लेकिन वाट्सएप और फेसबुक के लिए नहीं, स्टडी के लिए और आज हर्षल चौधरी को लोग MPPSC टॉपर के रूप में जानते हैं। असिस्टेंट मैनेजर अब डिप्टी कलेक्टर बन गया। 

हर्षल चौधरी ने बताया कि, 'वे बीते 5 वर्षों से वे SECL को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। वे अपने काम के साथ-साथ लगातार पीएससी की तैयारी कर रहें थे। वर्ष 2018 में उन्होंने पीएससी की परीक्षा दी और उन्हें उम्मीद थी कि उनकी रैंक काफी अच्छा रहेगा'। अपनी उपलब्धि के बारे में बताते हुए एमपी पीएससी टॉपर हर्षिल कहते हैं कि, 'वे आठ घंटे काम करने के बाद 3 घंटे की पढ़ाई करते थे जिसमें इंटरनेट की मुख्य भूमिका रहती थी।

हर्षल बताते हैं कि, 'वह एसडीएम बनना चाहते थे, लेकिन अब इस उपलब्धि के बाद उन्हें बड़ा पद मिलेगा'। वे कहते हैं कि, 'कोई भी लक्ष्य प्राप्त करने के लिए लगातार प्रयास जरूरी है। मैंने भी 3 घंटे की पढ़ाई की और इंटरनेट के साथ दोस्तों का सहारा लिया। लगातार इसी प्रयास ने सफलता दिलाई'।

मंडला में आटा चक्की की दुकान 
परिजनों के बारे में बताते हुए हर्षल ने बताया कि, 'उनके पिता की मध्यप्रदेश के मंडला में आटा चक्की की दुकान है। उनके पिता हमेशा से पढ़ाई के लिए प्रेरित करते रहें हैं'। वहीं इस उपलब्धि के बाद एसईसीएल क्षेत्र में उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है।