धर्मांतरण के मामले वापस लिए, तो डटकर विरोध करेंगे: BJP | MP NEWS

भोपाल। प्रदेश सरकार के विधि मंत्री जिस तरह से ईसाई मिशनरीज पर दर्ज धर्मांतरण के मामले वापस लेने की बात कह रहे हैं, उससे लगता है कि कांग्रेस सरकार प्रदेश में धर्मांतरण को बढ़ावा देने की योजना बना रही है। भारतीय जनता पार्टी इस योजना को सफल नहीं होने देगी और ऐसे प्रयासों का डटकर विरोध करेगी। यह बात सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता श्री रजनीश अग्रवाल ने प्रदेश सरकार के मंत्री पी.सी.शर्मा के बयान पर टिप्पणी करते हुए कही।

प्रदेश के विधि मंत्री पी.सी.शर्मा ने हाल ही में यह बयान दिया था कि सरकार ईसाई मिशनरीज के खिलाफ धर्मांतरण के मामलों में दर्ज अपराध प्रकरणों की जांच करके उन्हें वापस लेगी। विधि मंत्री के इस बयान की निंदा करते हुए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता श्री रजनीश अग्रवाल ने कहा है कि प्रदेश सरकार के मंत्री द्वारा धर्मांतरण के प्रकरणों को वापस लेने की मंशा जताना घोर आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि विधि मंत्री के इस बयान से ऐसा प्रतीत होता है कि कांग्रेस सरकार प्रदेश में धर्मांतरण को प्रोत्साहित करने की योजना बना रही है। 

श्री अग्रवाल ने कहा कि संभवतः ईसाई मिशनरीज द्वारा किये जाने वाले धर्मांतरण को प्रोत्साहित करने के लिए यह योजना 10 जनपथ से प्रदेश सरकार को भेजी गई है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार अगर ऐसा करती है, तो भारतीय जनता पार्टी इसका डटकर विरोध करेगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी धर्मांतरण को गलत मानते थे। ऐसे में यदि प्रदेश की कांग्रेस की सरकार किसी भी तरह धर्मांतरण को प्रोत्साहित करती है, तो यह महात्मा गांधी जी की भावनाओं के साथ भी खिलवाड़ होगा।