Loading...

योगी सरकार के 3 मंत्रियों का भ्रष्टाचार कनेक्शन, निजी सचिव गिरफ्तार | uttar pradesh, National News

लखनऊ। उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के 3 मंत्री भ्रष्टाचार के संदेह की जद में आ गए हैं। एक टीवी चैनल ने स्टिंग ऑपरेशन करके तीनों मंत्रियों के निजी सचिवों के खेलका खुलासा कर दिया। तीनों को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। अब मंत्रियों को पद से हटाने की मांग उठना शुरू हो गई है। 

भ्रष्टाचार और घूसखोरी के आरोप में मंत्री अर्चना त्रिपाठी के निजी सचिव रामनरेश त्रिपाठी, मंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी, मंत्री ओम प्रकाश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप को शनिवार शाम पुलिस ने हिरासत में लिया है। गिरफ्तारी के बाद इन सभी से संबंधित जांच अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। 

इससे पहले एक न्यूज चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में दिखाया गया था कि किस तरह प्रदेश के तीन मंत्रियों संदीप सिंह, अर्चना पाण्डेय और ओमप्रकाश राजभर के निजी सचिव काम के बदले रुपयों की डील कर रहे थे। इस स्टिंग ऑपरेशन के बाद योगी आदित्‍यनाथ सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए तीनों निजी सचिवों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए थे। 

चैनल में प्रसारित किए गए स्टिंग में मंत्री ओमप्रकाश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप, खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडे के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी को अलग-अलग काम करवाने के एवज में पैसे का ऑफर लेते दिखाया गया था। 

2 मंत्रियों के बयान सामने आए
इस स्टिंग के प्रसारित होने के बाद मंत्री अर्चना पांडे ने कहा है कि ये सब कैसे हुआ, उन्‍हें इसकी जानकारी नहीं है। उन्‍होंने कहा, 'मैंने सोचा भी नहीं था कि यह होगा।' उधर, ओम प्रकाश राजभर ने भी इस पूरे मामले से पल्‍ला झाड़ लिया है। राजभर ने कहा, 'वे सरकारी कर्मचारी हैं, हम उनके खिलाफ कार्रवाई कैसे कर सकते हैं।' उन्‍होंने कहा कि मुख्‍य सचिव को इन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए।'