LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




भोपाल में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे कमलनाथ | MP NEWS

14 December 2018

भोपाल। विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर के बाद पर्यवेक्षक एके एंटोनी ने कमलनाथ के नाम की औपचारिक घोषणा की। कमलनाथ 17 दिसंबर को भोपाल में CM पद की शपथ लेंगे। मध्य प्रदेश में कांग्रेस 15 साल बाद सत्ता में वापसी कर रही है, ऐसे में माना जा रहा है कि शपथ ग्रहण समारोह भव्य होगा।माना जा रहा है कि कमलनाथ के साथ उनके मंत्रीमंडल के 20 सदस्य भी शपथ लेंगे। नए सीएम के तौर पर नाम की घोषणा के बाद कमलनाथ ने कहा, "यह पद मेरे लिये मील का पत्थर है। ज्योतिरदित्य का धन्यवाद जिन्होंने मेरा समर्थन किया। इनके पिताजी के साथ मैंने काम किया है इसलिए इनके समर्थन मिलने से मुझे खुशी हो रही है। अब हमारे सामने कई चुनौतियां हैं, हम सब मिलकर हमारा वचन पत्र पूरा करेंगे। मुझे पद की कोई भूख नहीं। मेरी कोई मांग नहीं थी। मैंने अपना पूरा जीवन बिना किसी पद की भूख के कांग्रेस पार्टी को समर्पित किया। मैंने संजय गांधी, इंदिरा, राजीव के साथ काम किया है और अब राहुल गांधी के साथ काम कर रहा हूं।"

इससे पहले गुरुवार दिनभर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर बैठकों के दौर चले। आलाकमान ने फैसला कर लिया, लेकिन कमलनाथ और सिंधिया को दिल्ली से भोपाल जाकर घोषणा करने को कहा। इस बीच, राजस्थान को लेकर सस्पेंस कायम है। अशोक गहलोत और सचिन पायलट मुख्यमंत्री पद के दावेदार हैं। माना जा रहा है कि सोनिया गांधी की पसंद गहलोत हैं, लेकिन यह भी कहा जा रहा है कि पायलट इसके लिए राजी नहीं हैं। वहीं, छत्तीसगढ़ के मामले में राहुल शुक्रवार को फैसला करेंगे। वहां टीएस सिंहदेव का नाम आगे चल रहा है। भूपेश बघेल और ताम्रध्वज साहू भी दौड़ में हैं।

Rajasthan पर देर रात बैठक


राजस्थान में सीएम कौन हो, इसे लेकर राहुल के आवास पर कई दौर की बैठक हुई। दिनभर बैठक के बाद मप्र के मुख्यमंत्री का फैसला तो हो गया। लेकिन, राजस्थान पर सस्पेंस बरकरार है। रात्रि भोज के बाद राहुल ने गहलोत और पायलट को बैठक के लिए बुलाया, जो देर रात तक चली। सूत्रों के मुताबिक, शुक्रवार को राजस्थान के सीएम पर फैसला हो जाएगा।

Chhattisgarh में शुक्रवार को CM का फैसला


छत्तीसगढ़ में सीएम पद के लिए भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के साथ-साथ ताम्रध्वज साहू के नाम पर भी विचार हुआ। यहां सिंहदेव का नाम सबसे आगे है, उन्हें शुक्रवार को दिल्ली बुलाया गया है और इसी दिन मुख्यमंत्री पर फैसला किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां मोतीलाल वोरा बघेल की दावेदारी का विरोध कर रहे हैं।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->