GLAZE INDIA: फिर बड़ी ठगी की प्लानिंग ? कई विवाद हो चुके हैं, मामले भी दर्ज हैं

25 November 2018

GLAZE TRADING INDIA PRIVATE LIMITED के नाम की शिकायतें 2012 या शायद इससे भी पहले से आना शुरू हो गईं थीं जो लगातार जारी हैं। उत्तरप्रदेश में ट्रेनिंग के नाम पर ठगी, फिर छत्तीसगढ़ में नाबालिग लड़कियों को गुमराह करने के आरोप में 5 अधिकारियों की गिरफ्तारी, 2018 में 10 अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद एक बार फिर Glaze Trading India Pvt. Ltd. | Indian Direct Selling Company के नाम से कुछ लोग सक्रिय हुए हैं। खबर आ रही है कि अब GLOBAL GLAZE के नाम से कारोबार शुरू किया गया है। लोगो पर GALWAY लिखा गया है। कंपनी की बेवसाइट पर यह नजर नहीं आ रहा कि वो क्या कारोबार करेगी। बताया जा रहा है कि इस बार ONLINE DIRECT SELLER की भर्ती की जा रही है। 

दस्तावेज बताते हैं कि GLAZE TRADING INDIA PRIVATE LIMITED नाम की कंपनी की शुरूआत 2004 में SANJEEV CHHIBBER एवं CHETAN PRAKESH HANDA ने की थी। 2014 में SUMIT KOHLI और SARABJEET SINGH ARNEJA इस कंपनी में डायरेक्टर बनाए गए। लास्ट अपडेट 2015 में दर्ज किया गया है जब ARUN CHHIBBER, INDERJEET CHHIBBER एवं SNEH CHHIBBER को बतौर डायरेक्टर जोड़ा गया। स्वभाविक है ये तीनों ही SANJEEV CHHIBBER का परिवार हैं। इस तरह इस कंपनी में संजीव छिब्बर एवं परिवार, चेतन प्रकाश हांडा, सुमित कोहली और सरबजीत सिंह अरनेजा मुख्य कर्ताधर्ता हैं। 

इस कंपनी का कनेक्शन एक नंबर 07620266590 से भी है। जबकि यह कंपनी का आधिकारिक कस्टमर केयर नंबर नहीं हैं। truecaller में यह नंबर Glaze Company Rajistaion के नाम से आता है। कंपनी के 5 अधिकारियों को छत्तीसगढ़ में 2016 में गिरफ्तार किया गया था। आरोप था कि उन्होने नाबालिग लड़कियों को गुमराह किया और नौकरी का झांसा देकर नेटवर्क मार्केटिंग में शामिल किया। 

नौकरी के बहाने ठगी की, ट्रेनिंग के बहाने बंधक बनाया

30 जुलाई 2018 को बरेली उत्तरप्रदेश में खबर मिली थी कि ग्लेज इंडिया कंपनी के 10 अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने बताया कि लखनऊ निवासी सत्यम, अमन सिंह समेत 4 युवकों ने एफआईआर दर्ज कराई थी कि उन्हें कंपनी में नौकरी देकर ट्रेनिंग के बहाने हरुनगला में एक स्थान पर बंधक बनाकर रखा गया था। पुलिस ने छापा मारकर 10 लोगों को पकड़ा था। पुलिस ने पूछताछ के बाद हिरासत में लिए सभी युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस गिरफ्त में आए युवकों के नाम इम्तियाज है, जिसके नाम से फ्रेंचाइजी थी। इम्तियाज, गाजीपुर का रहने वाला है। इसके अलावा राजकुमार पाल, अनिल गुप्ता, राज बब्बर, कृष्ण मोहन सिंह, धर्मेद्र कुमार, उमेश कुमार तिवारी, अजीत कुमार और राघवेंद्र को गिरफ्तार किया है। सभी यूपी के अलग-अलग जिलों के रहने वाले हैं।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->