मध्यप्रदेश : अब की बार किसकी सरकार ? | EDITORIAL by Rakesh Dubey

28 November 2018

मध्यप्रदेश में इस बार चुनावी रायता इस कदर फ़ैल गया है की यह समझना मुश्किल हो रहा है कि “ अब की बार किसकी सरकार ?” दोनों ही दलों के कुछ प्रत्याशी अभी से पुलिस से भिड गये हैं |  नकली आडियो क्लिप को लेकर मुकदमेबाजी  शुरू हो गई है | दोनों प्रमुख दलों के सिरमौर के साथ छोटे-छोटे दलों के एकल सैन्य सन्गठन भी जीत के दावे कर रहे हैं | छुटपुटिया दल के सर्वेसर्वा कहने लगे हैं –“अब की बार –उनके बिना नहीं सरकार”, चुनावी पंडित हतप्रभ है इस बार जैसी पहले कभी देखने को नहीं मिली | यह चुप्पी कह रही है “ अब की बार – किसकी सरकार |”

खबरों पर नजर रखने वालों की नजर से खबर कैसे चूकती | इस सारे घटाटोप में से किसानों के हित की खबर निकल ही आई है | अगर सच्ची है तो इसके दूरगामी परिणाम होंगे | खबर दिल्ली से है लाभ पूरे देश में होगा |अधिकृत सूत्रों के अनुसार 26 नवम्बर को संविधान दिवस के अवसर  पर किसानों के हित में कुछ बड़े फैसले हुए हैं जैसे | दो महीने में फसल बीमा राशि के भुगतान की व्यवस्था, किसानों को स्मार्ट फोन (मोबाइल ) खरीदने में मदद, बीमा कंपनियों की दादागिरी पर लगाम, बीमा  राशि के भुगतान मे तेजी | आज के दिन ये फैसले भले  ही कोई असर पैदा न कर  सके, परंतु भविष्य में इनका फायदा  मिलेगा |

चुनाव आयोग की मशीनरी इस बार ज्यादा चुस्त- दुरुस्त है, तो  पार्टियों के बीच इस बार “रार” अभी से ठनने लगी है | एक आडियों क्लिप को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस को सुप्रीम कोर्ट में ले जा रहे हैं,  तो कांग्रेस के खुरई से उम्मीदवार अरुणोदय चौबे के खिलाफ  भाजपा के  कार्यकर्त्ता सुप्रीम कोर्ट पहुँच चुके है | भाजपा के शिवपुरी  से प्रत्याशी कल रात ही पुलिस से दो-दो हाथ कर  चुके हैं | मध्यप्रदेश में पहले ऐसे कारनामे नहीं होते थे और न ऐसी रार यह सब इस बार अनोखे है | इसकी परिणति ठीक नहीं होगी | भले ही किसी की सरकार बने इस बार |

 वैसे पांच बातें और हैं जो इस चुनाव को खास और अलग बना रही हैं | एक -वीवीपैट का प्रयोग - मतदाता को उनके द्वारा डाला गया वोट देखने के लिए ईवीएम से पहली बार वीवीपैट जोड़ी गई है। 7 सेकंड तक वोटर इस पर्ची पर अपना वोट देख सकेंगे।दो- क्यूलेस पोल एप - वोट डालने के लिए बूथ पर इंतजार न करना पड़े, इसके लिए पहली बार भोपाल में क्यूलेस बूथ बनाया गया है। एप के जरिए मतदाता टाइम स्लाट लेकर क्यूलेस बूथ पर जा सकते हैं।तीन- वोटर पर्ची पर बूथ गाइड - बूथ तक पहुंचने के लिए पहली बार आयोग ने वोटर पर्ची पर गाइड सुविधा दी है। पर्ची के पीछे मैप और केंद्र दर्शाया है। इसके सहारे वोटर बूथ तक पहुंच सकते हैं। चार- ऑल वुमन पोलिंग स्टेशन - इस बार कुछ बूथों की कमान महिलाओं कों सौंपी गई है। इन्हें ऑल वुमन पोलिंग स्टेशन का दर्जा दिया है। इन बूथों पर मतदान और सुरक्षा की कमान महिलाओं के पास होगी। पांच- मोबाईल से ढूंढे़ अपना बूथ -  वोटर अपना बूथ मोबाइल फोन से पता कर सकते हैं। MP EPIC लिख वोटर आईडी नंबर टाइप कर 51969 पर सेंड करना होगा। मोबाइल फोन पर बूथ और अन्य जानकारी आ जाएगी।चाहे “किसी की भी बने सरकार  वोट देना है आपका अधिकार |”वोट जरुर दीजिये, पर सोच समझ कर |
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com
श्री राकेश दुबे वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार हैं।
संपर्क  9425022703        
rakeshdubeyrsa@gmail.com
पूर्व में प्रकाशित लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए
आप हमें ट्विटर और फ़ेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->