कमलनाथ और शिवराज के बाद अब DIGVIJAY SINGH ने चला दलित-मुस्लिम कार्ड | MP NEWS

भोपाल। मुसलमान समाज के वोटों को अपनी तरफ करने के खेल में कांग्रेस और भाजपा दोनों एक के बाद एक बयान दे रहे हैं। सबसे पहले कमलनाथ का वीडियो वायरल हुआ। फिर सीएम शिवराज सिंह ने मुसलमान को मंत्री बनाने का वादा किया। अब दिग्विजय सिंह का बयान सामने आया है। आगर मालवा सुसनेर विधानसभा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा किसी भी दलित और अल्पसंख्यक को डरने की आवश्यकता नही है क्योंकि दिग्विजय दलित और मुसलमानों की सेवा के लिए ही तो बदनाम है तो फिर मेरे होते आपको डरने की क्या आवश्यकता है।

सुसनेर के कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र परिहार के समर्थन में दिग्विजय आम सभा को सबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मंच से कहा कि मैं दुखी हूँ, बाहर दुखी मन से भाषण दे रहा हूँ, दलितों को आज डराया जा रहा है, मुसलमानों को डराया जा रहा है लेकिन किसी को डरने की जरुरत नहीं। जब दिग्विजय सिंह बैठा है तो तुम क्यों डरते हो, दलित और मुसलमानों की सेवा के लिए ही तो दिग्विजय सिंह बदनाम रहा है, फिर डरने की क्या आवश्यकता है। उन्होंने कांग्रेस से बगावत कर चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी के आचरण को लेकर भी दुख जताते हुए कहा कि जो कांग्रेस का नही है वो मेरा कभी नही हो सकता।

याद दिला दें कि सबसे पहले कमलनाथ का वीडियो वायरल हुआ था। उनका कहना था कि यदि मुस्लिम समाज के 90 प्रतिशत वोट नहीं मिले तो कांग्रेस को बड़ा नुक्सान हो जाएगा। भाजपा नेताओं ने इसकी भरपूर निंदा की। योगी आदित्यनाथ ने यहां तक कहा कि कमलनाथ को अली चाहिए और हमें बजरंग बली। इसके तत्काल बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आप मुस्लिम उम्मीदवार फातिमा सिद्दीकी को जिता दो, मैं उसे मंत्री बना दूंगा। बता दें कि भाजपा ने सिर्फ एक ही मुस्लिम को टिकट दिया है, जो टिकट हासिल करने से पहले भाजपा में नहीं थी। अब दिग्विजय सिंह का बयान आ गया।