Loading...

Bed छात्र: दीवार पर लिखा I love U jaan, सुसाइड नोट में दादी जिम्मेदार | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। मुरैना के बीएड छात्र ने आत्महत्या करने के लिए फूलबाग स्थित दीनदयाल (डीडी) मॉल को चुना। वो मुरैना से मॉल आया। मॉल की तीसरी मंजिल पर करीब 15 मिनट तक टहलता रहा, फिर जेब से मार्कर निकालकर मॉल की दीवार पर उसने आई लव यू जान.. लिखा। इसके बाद रेलिंग से पैर बाहर की तरफ निकाला और छलांग लगा दी। जेब में एक सुसाइड नोट मिला जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार अपनी दादीमां को बताया है। 

42 फीट ऊंचाई से छात्र ग्राउंड फ्लोर पर गिरा। मॉल के दुकानदार और पुलिसकर्मी अस्पताल भी ले गए लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। मरने से पहले उसने एक सुसाइड नोट भी लिखा, जो उसकी जेब में मिला है। सुसाइड नोट में दादी को मौत का जिम्मेदार बताया है। आत्महत्या का कारण प्रथम दृष्टया प्रेम प्रसंग लग रहा है। पूरी कहानी परिजनों के बयान होने पर स्पष्ट हो सकेगी। फिलहाल इंदरगंज थाना पुलिस ने छात्र के शव का पोस्टमार्टम कराकर सुसाइड नोट और छात्र का मोबाइल जब्त कर जांच शुरू कर दी है। मौके पर फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ. अखिलेश भार्गव पहुंचे। 

मुरैना स्थित केशव कॉलोनी के रहने वाले सुभाष वर्मा उचित मूल्य की दुकान चलाते हैं। उनका बेटा शिवम (22) बीएड कर रहा था। सुभाष के चाचा एमएल वर्मा का टिनी कॉन्वेंट नाम से स्कूल है, उसमें शिवम पढ़ाता था और दोपहर मेें ट्यूशन भी करता था। जिससे उसका जेब खर्च निकलता था। तीन दिन से उसकी तबीयत थोड़ी खराब थी। शुक्रवार सुबह स्कूल गया, इसके बाद वह करीब 9 बजे स्कूल से घर वापस आ गया। फिर घर से स्कूल जाने की कहकर निकल गया। लेकिन स्कूल नहीं पहुंचा। स्कूल की बजाय वह ग्वालियर आ गया, लेकिन परिजनों को पता नहीं था। दोपहर करीब 12.15 बजे डीडी मॉल पहुंचा। तीसरी मंजिल पर वह टहलता रहा। इसके बाद बिलकुल कोने में गया और दीवार पर मार्कर से आई लव यू लिखा। फिर उसने छलांग लगा दी। जैसे ही नीचे गिरा तो अफरा-तफरी मच गई। उसे जेएएच भी ले गए, करीब सवा घंटे बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।