Loading...

चुनाव तत्काल: अधिकारियों ने छुट्टी मांगी, कलेक्टर ने VRS दे दिया | Bhind mp news

भिंड। नए कलेक्टर धनराजू एस ने आते ही धमाकेदार कार्रवाई कर डाली। उन्होंने बीमारी का बहाना बनाकर चुनाव ड्यूटी से बचने की कोशिश करने वाले उद्यान अधिकारी एवं एक अध्यापक को वीआरएस दे दिया। कलेक्टर ने इसके आदेश भी जारी कर दिए। अब दोनों अधिकारियों को किसी भी चुनाव ड्यूटी में नहीं जाना पड़ेगा। 

भिंड के ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी गिरजाशंकर दुबे और शासकीय माध्यमिक विद्यालय धरई के अध्यापक सुधीर त्रिपाठी ने स्वास्थ्य कारणों के चलते चुनावी ड्यूटी से अवकाश लिया था लेकिन अवकाश के आवेदन के साथ मेडिकल बोर्ड का प्रमाण पत्र संलग्न नहीं किया था। इस पर कलेक्टर ने इन्हें 20-50 फॉर्मूल के तहत वीआरएस दे दिया। ये फॉर्मूला 20 वर्ष की नौकरी या 50 वर्ष की आयु का है। इस अवधि या आयु के बाद यदि व्यक्ति नौकरी के योगय ना हो तो उसे रिटायरमेंट दे दिया जाता है। 

कलेक्टर ने इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए। कलेक्टर का ये फरमान अब पूरे शहर में चर्चाओं का विषय बन गया है, क्योंकि भिंड कलेक्टर आशीष कुमार की जगह 2009 बैच के आईएएस अधिकारी धनराजू एस को भिंड का नया कलेक्टर बनाया गया है। आज उनकी ड्यूटी का पहला दिन था और पहले दिन ही उन्होंने यह कार्रवाई कर दी। एस धनराजू इसके पहले लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक थे। 

अक्सर सुर्खियों में रहते हैं धनराजू एस आईएएस

बता दें कि धनराजू एस अक्सर सुर्खियों में रहने वाले काम करते हैं। सिवनी कलेक्टर रहते हुए इनकी एक फोटो काफी वायरल हुई थी। फोटो में धनराजू एस अपनी बेटी को पैदल स्कूल छोड़ने जा रहे थे। वाट्सएप पर एक पोस्ट देखकर मरीज को खून देने पहुंच गए थे। नोटबंदी के समय अपनी 6 साल की बेटी के साथ बैंक की लाइन में लगे दिखाई दिए थे। इन सभी मामलों ने धनराजू एस को काफी लोकप्रियता दी लेकिन इसके बाद इनकी बर्थडे पार्टी की एक फोटो वायरल हुई जिसमें शराब के जाम छलक रहे थे। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com