Advertisement

वयोवृद्ध कमलनाथ के सवाल भी पुराने, पब्लिक पर बेअसर | mp news



भोपाल। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के सारे दावे फुस्से होते जा रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष बनने से पहले उन्होंने ऐलान किया था कि वो व्यापमं घोटाले पर कोई नया खुलासा करेंगे। जनता आज तक इंतजार कर रही है। मीडिया की सुर्खियां बन चुकीं खबरों पर वो बयान जारी करते रहते हैं लेकिन कोई नया धमाका अब तक नहीं कर पाए थे। जब 40 दिन 40 सवाल का ऐलान किया तो उम्मीद थी कि अब 40 धमाके होंगे परंतु अब तक आए तीनों मामले एक्सपायरी डेट के हैं। 

पुराने मामले दोहरा रहे हैं कमलनाथ

कमलनाथ ने अब तक 3 सवाल पूछे। पहले मप्र की चरमरा चुकी स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर था जिस पर अखबार पहले ही पन्ने रंग चुके हैं, टीवी चैनलों में बहस हो चुकी है और सरकार अपनी नाकामी स्वीकार भी कर चुकी है। दूसरा प्रश्न स्वास्थ्य विभाग के संबंधित था। यह पहले प्रश्न का पूरक प्रश्न था, कमलनाथ ने इसे दूसरा बताया। तीसरा प्रश्न आज मध्यप्रदेश में महिला के प्रति हुए अपराधों का ग्राफ और महिला एवं बाल विकास विभाग के बजट से संबंधित है। महिला अपराध का मामला भी सुर्खियां बटोर चुका है। शिवराज सरकार सफाई दे चुकी है। नया कुछ नहीं है। महिला एवं बाल विकास विभाग के बजट का सवाल तो जैसे सवाल ही नहीं है। कई योजनाओं का बजट खर्च नहीं हो पाता। इससे नाराज होकर जनता वोट तो बदलने से रही। 

कमलनाथ समर्थक ही महत्व नहीं दे रहे

सबसे बड़ी बात यह है कि कमलनाथ के सवालों को उनके अपने समर्थक ही महत्व नहीं दे रहे। कमलनाथ सारे सवाल ट्वीटर पर कर रहे हैं। उनके ट्वीटर अकाउंट पर 1,10,000 फालोअर्स हैं। हालांकि यह संख्या काफी कम है। चौंकाने वाली बात यह है कि अब तक पूछे गए 3 सवालों पर कुल 10000 लोगोें ने भी रिएक्शन नहीं दिए हैं। लोग कमलनाथ के ट्वीट को रीट्वीट तक नहीं कर रहे और ना ही उनके सवाल सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं। 

71 वर्षीय कमलनाथ नया कुछ नहीं कर पा रहे

राजनीति के पंडितों का कहना है कि कमलनाथ को इस तरह की राजनीति आती ही नहीं। कमलनाथ हमेशा से संबंध बनाने वाली राजनीति करते रहे हैं। छिंदवाड़ा कांग्रेस का गढ़ रहा है। कमलनाथ के आने से पहले भी यहां से कांग्रेस ही जीतती रही है और कमलनाथ नहीं होंगे तब भी कांग्रेस ही जीतेगी। उन्होंने कुछ वेतनभागी कर्मचारी रख लिए हैं जो कमलनाथ के ट्वीटर पर पोस्टिंग करते हैं। ये कर्मचारी भी कमलनाथ की तरह या तो पुराने हैं या सस्ते हैं। कमलनाथ और उनकी टीम के पास नया कुछ भी नहीं है। हालात यह हैं कि कारोबारी कमलनाथ की टीम 40 दिन 40 सवाल के लिए ढंग का पोस्टर भी नहीं बना पाई, इससे ज्यादा अच्छा तो हमारे क्रिएटिव ने 10 मिनट में बनाकर दे दिया। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com