सपाक्स के बाद कथावाचक देवकीनंदन का ऐलान: पार्टी बनाएंगे, मप्र चुनाव लड़ेंगे | MP NEWS

03 October 2018

भोपाल। प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ आंदोलन के लिए गठित हुए सपाक्स के बाद एससी एसटी एक्ट के खिलाफ आंदोलन से एक और पार्टी का उदय हो रहा है। प्रख्यात कथावाचक पं. देवकीनंदन ठाकुर ने अपनी पार्टी का ऐलान कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा है कि वो मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों में अपने प्रत्याशी उतारेंगे। पार्टी का नाम अक्टूबर के लास्ट वीक में घोषित किया जाएगा। 

पं. देवकीनंदन ठाकुर के प्रदेश में एससीएसटी आंदोलन में एक्टिव रहने के चलते उनके राजनीति में आने के कयास लगाए जा रहे थे। अमेरिका से फेसबुक पर लाइव हो उन्होंने कहा कि प्रत्येक पार्टी जिन्होंने एससी एसटी एक्ट बनाया। डेढ़ से दो महीने होने को हैं कोई भी व्यक्ति, एक भी सांसद हम लोंगों की आवाज को सुन नहीं रहा। मैं सरकार के खिलाफ नहीं हूं। पं. देवकीनंदन ठाकुर ने पार्टी का ऐलान करते हुए कहा कि मैने लोगों से सुझाव मांगे थे तो अधिकांश लोगों ने मुझे एक ही सलाह दी है। लोग ये चाहते हैं की हम चुनाव लड़ें। मैं चुनाव नहीं लडूंगा। बल्कि युवाओं को चुनाव लड़ाऊंगा। मैं चाहूंगा युवा अब इस बात को समझें की हमे आगे बढना है। 

अक्टूबर के अंत में बात आगे बढ़ेगी
पं. देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि वे अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में भारत वापस आएंगे। तब आगे की बात और बढ़ेगी लेकिन इतने सांसदों के द्वारा जो हमे इग्नोर किया जा रहा है उससे ऐसा लग रहा है कि हमारा अपमान हो रहा है और ये अपमान मेरा नहीं हो रहा है, ये उन सभी लोगों का अपमान हो रहा है जो इस आंदोलन को कर रहे हैं। अब हम सबको एक होना होगा, एक बैनर के तले आना होगा। 

मध्यप्रदेश का चुनाव भी लड़ेंगे
मेरा निर्णय यह है की आप सब की सलाह के अनुसार अखण्ड भारत मिशन सबको साथ में लाएगा और सबसे पहले मध्य प्रदेश में चुनाव है तो अगर सरकार हमारी बात एक महीने में मान लेती है तो हम कथा ही करेंगे जहां हैं वहीं रहेंगे और अगर बात नहीं मानती है तो हम पार्टी बनाएंगे, हमारे लोग मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ाएंगे, एक झंडे के तले हम सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे और 2019 में भी चुनाव लड़ा जाएगा, जहां जहां हमे लगेगा वहां चुनाव लडेंगे।

इसलिए बना रहे पार्टी 
- पार्टी बनाने का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि हम पार्टी इसलिए बना रहे हैं क्योंकि अगर सदन में हमारे आदमी नहीं पहुंचे तो ये ऐसे ही कानून बनाते रहेंगे। ऐसे कई कानून इस सदन में बन चुके हैं जो नहीं बनने चाहिए थे। एक महीने में अगर हमारी बात नहीं मानी जाती है तो हमारे सारे लोग मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

- पं. देवकीनंदन ठाकुर ने चुनाव में अपने उम्मीदवारों के चयन के बारे में भी बताते हुए कहा कि उम्मीदवार को बेदाग होना चाहिए, ईमानदार होना चाहिए। जो भी उम्मीदवार होंगे उनके लिए एक फॉर्म तैयार किया जाएगा, जो उन फॉर्म की शर्तों को मानेंगे उन्हे ही टिकट दिया जाएगा। वो देश के साथ गद्दारी नहीं करेंगे, धर्म के साथ गद्दारी नहीं करेंगे, समाज को बांटने का काम नहीं करेंगे ये तीन प्रमुख शर्तें होंगी।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week