गुजरात में भड़की हिंसा, सड़कों पर उतरे लोग | CRIME NEWS

05 October 2018

गुजरात। यह पूरा मामला 28 सितबंर को हुई एक रेप की घटना के बाद उठा। साबरकांठा में एक मजदूर रवींद्र कुमार ने 28 सितंबर को 14 महीने की बच्ची से रेप किया था। अहमदाबाद में 14 महीने की लड़की से रेप की घटना के बाद उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों पर हमले हो रहे हैं। यहां गुरुवार को रेप की घटना के विरोध प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतरे लोग हिंसक हो गए और उत्तर भारतीयों पर हमले किए। अहमदाबाद, मेहसाणा, सूरत समेत गुजरात के कई शहरों में उत्तर भारतीयों के खिलाफ हिंसा के कई मामले सामने आ रहे हैं। कई जगह तो पुलिस को स्थिति को काबू में करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा।

आरोपी रवींद्र कुमार बिहार का रहने वाला था और यहां एक फैक्ट्री में काम करता था। घटना के बाद से विरोध-प्रदर्शन चल रहे हैं। साबरकांठा में एक हफ्ते पहले और वडनगर में मंगलवार को प्रदर्शन किए गए। हमले का शिकार हुए 23 साल के ऑटोरिक्शा ड्राइवर केदारनाथ ने बताया कि वह यूपी के सुलतानपुर का रहने वाला है।उस पर चांदलोडिया पुल के पास कुछ लोगों ने हमला कर दिया। उसने बताया कि भीड़ सब्जी के ठेले पलट रही थी और लोगों पर हमला कर रही थी। केदार ने आगे बताया कि जब उसने भागने की कोशिश की तो उसे रोका गया, उसके रिक्शे की विंडशील्ड तोड़ दी गई और उसे पीटा गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तर भारतीयों के खिलाफ लोग नारे लगा रहे थे। लोगों का कहना था कि, 'बाहरी लोग राज्य छोड़ दें'। पुलिस के सूत्रों ने बताया कि भीड़ ने 8 गाड़ियां, एक लोडिंग रिक्शा और एक टू-वीलर तोड़ दिया। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया है।

उत्तर भारतियों पर हमले की घटना साबरमती में भी सामने आई। यहां प्रतिमा कोरी नाम की महिला को रेलवे ब्रिज के पास घर जाते वक्त चार लोगों ने रोक लिया। वे लोग उनका पीछा करने लगे और गालियां देने लगे। वे कह रहे थे कि यूपी और बिहार के लोग शहर छोड़ दें, वरना उन्हें मार दिया जाएगा। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week