MP NEWS: संविदा सुपरवाईजर और संविदा कलाकारों ने ज्ञापन सौंपा @ Samvida Karmachari

Advertisement

MP NEWS: संविदा सुपरवाईजर और संविदा कलाकारों ने ज्ञापन सौंपा @ Samvida Karmachari


भोपाल। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं का वेतन दो माह में दो बार बढ़ जाने लेकिन महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर जो कि आंगनवाड़ी केन्द्रों की मानिटरिंग करती हैं उनका वेतन सामान्य प्रशासन विभाग के 5 जून को जारी किये गये आदेश के बावजूद अभी तक नहीं बढ़ाये जाने से नाराज सुपरवाईजरों तथा बाल भवनों में कार्यरत संगतकारों और कलाकारों ने म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेष अध्यक्ष रमेष राठौर के नेतृत्व में महिला बाल विकास विभाग अरेरा हिल्स के वात्सल्य भवन में जाकर महिला बाल विकास विभाग के आयुक्त अषोक भार्गव को ज्ञापन सौपकर अपनी पीड़ा बताई। 

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका एक केन्द्र पर कार्य करती हैं उनका वेतन संविदा सुपरवाईजर के बराबर कर दिया गया लेकिन संविदा सुपरवाईजरों पचास से सौ आंगनवाड़ी केन्द्रों में जाकर उनका निरीक्षण कर अन्य कार्य करती हैं, उनके वेतन बढ़ाने के लिये 5 जून 2018 को सामान्य प्रशासन विभाग के द्वारा संविदा नीति जारी की है जिसमें उल्लेख किया गया है कि संविदा कर्मचारी जिस पद पर कार्य कर रहा है उस पद के न्यूनतम वेतन का 90 प्रतिशत तथा उस पर वर्तमान में प्रचलित मंहगाई भत्ता दे दिया जाए तथा नियमित कर्मचारियों के समान अवकाश आदि प्रदान किया जाए लेकिन लगातार 3 माह से ज्ञापन देने के पश्चात भी अभी तक आदेश जारी नहीं हुये हैं। वहीं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा सहायिका का वेतन दो माह में दो बार बढ़कार 5000 से 11500 रूपये कर दिया है जो कि सुपरवाईजर के बराबर है। 

संविदा सुपरवाईजरों का वेतन पिछले 5 सालें से 13500 रूपये ही है जबकि नियमित संविदा सुपरवाईजरों का वेतन 50 हजार रुपए है। अब आंगनवाड़ी कार्यकर्ता जो कि सुपरवाईजर के बराबर वेतन पाने लगेगी जबकि जीएडी के 5 जून के जारी आदेश के अनुसार उनका वेतन 25 हजार रूपए हो जायेगा लेकिन महिला बाल विकास विभाग ने अभी तक आदेश जारी नहीं किये, जिससे संविदा सुपरवाईजर में आक्रोश है। दूसरी और महिला बाल विकास विभाग के सात बाल भवनों में कार्यरत कलाकारों और संगतकारों का वेतन मात्र 7 हजार रूपए है जबकि नियमित पदों पर काम करने वाले कलाकारों और संगतकारों का वेतन 40 से 50 हजार रूपए है उनका वेतन भी 5 जून को जारी की गई संविदा नीति के अनुसार किया जाये। 

महिला बाल विकास विभाग के आयुक्त अशोक भार्गव के द्वारा बड़े ही ध्यान से बाते सुनने के बाद कहा कि संविदा सुपरवाईजरों और बाल भवनों में कार्यरत कलाकारों तथा अन्य संविदा कर्मचारियों का वेतन 5 जून को जारी की गई जीएडी की नीति के अनुसार बढ़ाया जायेगा और जल्दी ही आदेष जारी किये जाएंगे। प्रतिनिधि मंडल में संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के अध्यक्ष रमेश राठौर सुपरवाईजर संघ की नाहिद जहां, गीता पाल, पुष्पा , किरण , मुकेश यादव, सुनील श्रीवास्तव, विजय सप्रे आदि लोग उपस्थित थे। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com