SALARY का 37 लाख रुपए हुआ गायब, कर्मचारी परेशान| MP EMPLOYEE NEWS

10 August 2018

खंडवा: होमगार्ड के जवानों को इस बार राखी का त्योहार सूना मनाना पड़ सकता है। जिले के करीब 160 जवानों की तनख्वाह के करीब 37 लाख रुपए का अब तक पता नहीं चल पाया है। करीब पांच दिन से ट्रैजरी विभाग इस बारे में पता करने में लगा हुआ है। तनख्वाह नहीं मिलने को लेकर होमगार्ड विभाग ने ट्रैजरी अधिकारियों द्वारा लापरवाही बरतने की बात कही है। ट्रैजरी अधिकारी इसे ऑनलाइन में प्रक्रिया में त्रुटि होना बता रहे हैं।

होमगार्ड के 160 जवानों को उनका वेतन नहीं मिल पाया है। बुधवार को भी वेतन का इंतजार कर रहे जवानों को मायूसी हाथ लगी। जानकारी के अनुसार होमगार्ड जवानों को हर माह की पांच तारीख तक वेतन मिल जाता है। इस बार जब 8 तारीख तक भी वेतन नहीं आया तो जवानों ने अपने कार्यालय में संपर्क किया। यहां पूछने पर उन्हें पता चला कि उनका वेतन कहीं लापता हो गया है। जवानों ने विस्तार से जानना चाहा तो उन्हें बताया कि गया कि ट्रैजरी कार्यालय में हुई गड़बड़ी से उनका वेतन कहीं अटक गया है या किसी और के खाते में चले गए हैं।

37 लाख रुपए वेतन का कहीं पता नहीं चल पा रहा है। पांच दिनों से ट्रैजरी विभाग के अधिकारी वेतन के बारे में पता लगाने में लगे हुए हैं। ट्रैजरी विभाग इस लापरवाही को ढकने में लगा हुआ है। ट्रैजरी अधिकारी आरएस डुडवे का कहना है कि वेतन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया अपनाई जाती है।

3 अगस्त को होमगार्ड कार्यालय से बिल भेजे गए थे लेकिन वे अभी तक उन्हें नहीं मिले। कम्प्यूटर सिस्टम में बिल नहीं दिख रहे हैं। बिलों के बारे में पता लगाया जा रहा है। वहीं होमगार्ड कमांडेंट महेश हनौतिया का कहना है कि बिल समय पर जमा कर दिए थे लेकिन जवानों को वेतन अब तक नहीं मिला है। वेतन को लेकर उन्होंने पता किया तो जानकारी मिली कि वह मिसमैच हो गया है। किसी और जगह चला गया है।

की जाएगी कार्रवाई
होमगार्ड जवानों को वेतन नहीं मिलने की जानकारी मिली है। पता लगावा रहे हैं कि वेतन कहां रुक गया है। जांच कराई जा रही है। जिसकी भी लापरवाही सामने आती है, उस पर कार्रवाई की जाएगी।
विशेष गढ़पाले, कलेक्टर


-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->