इलेक्शन मोड में आए केजरीवाल, दिल्ली में लोकसभा प्रत्याशी घोषित | NATIONAL NEWS

28 August 2018

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमवार की शाम को दिल्ली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए लोकसभा चुनाव 2019 का चुनावी बिगुल बजा दिया। केजरीवाल ने जनसभा को संबोधित करते हुए बताया कि आखिर क्यों 2019 के लोकसभा के चुनाव में दिल्ली की जनता AAP को वोट दे?

केजरीवाल ने लोगों से कहा 'मैं पूछना चाहता हूं आपसे हमारी दिल्ली सरकार ने बिजली के बिल आधे किए या नहीं किए? पानी मुफ्त किया या नहीं किया? आपके सरकारी स्कूल ठीक किए या न नहीं किए? प्राइवेट स्कूलों की फीस कम करवाई या नहीं करवाई? मोहल्ला क्लिनिक बनवाए या नहीं बनवाए? सारे अस्पतालों में दवाइयां मुफ्त कीं या नहीं कीं?.....साढ़े तीन साल में इतने काम तो बहुत हैं! तो दिल्ली सरकार ने इतने सारे काम किए लेकिन दिल्ली के इन सात सांसदों (बीजेपी के) कुछ नहीं किया चार सवा चार साल में।'

केजरीवाल ने उप राज्यपाल और बीजेपी पर दिल्ली सरकार के काम मे रोड़े अटकाने का आरोप लगाया और कहा 'अगर दिल्ली में सातों सांसद आम आदमी पार्टी के होते तो काम और तेज़ी से होता। केजरीवाल ने कहा 'बीजेपी वालों के कहने पर एलजी ने मोहल्ला की फाइल रोकी, सीसीटीवी की फाइल रोक ली, स्कूलों की फाइल रोक ली, अस्पतालों की फाइल रोक ली लेकिन हम भी हार मानने वाले थोड़ी हैं, सारी फाइल क्लियर करवाकर ले आए, धरने करके ले आए। जब सीधी उंगली से घी न निकले तो उंगली टेढ़ी करनी पड़ती है लेकिन आप सोचकर देखो अगर सातों सांसद आम आदमी पार्टी के होते तो जितने काम हमने किए हैं उससे 10 गुना ज्यादा स्पीड से काम होते।' केजरीवाल ने बीजेपी पर सीलिंग करवाने और मेट्रो का किराया जबरन बढ़ाने का आरोप भी लगाया।

यह मौका था पूर्वी दिल्ली में आम आदमी पार्टी के लोकसभा कार्यालय के उद्घाटन का, लेकिन आम आदमी पार्टी ने इसको चुनावी सभा में बदल डाला। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, श्रम मंत्री गोपाल राय, सामाजिक न्याय मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम, परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के साथ पूर्वी दिल्ली के सभी आम आदमी पार्टी विधायक मौजूद थे।

पूर्वी दिल्ली से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया की सलाहकार रही आतिशी मारलेना को प्रभारी घोषित किया है, लेकिन मनीष सिसोदिया ने औपचारिक रूप से ऐलान कर दिया कि आतिशी मारलेना ही प्रभारी हैं और यही असल में प्रत्याशी भी हैं। मनीष सिसोदिया ने कहा 'इस कार्यालय में पूर्वी दिल्ली की अगली सांसद बैठा करेंगी।'

आपको बता दें कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में दिख रहे बड़े बदलाव का श्रेय शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया और उनकी सलाहकार रही आतिशी मारलेना को जाता है। अप्रैल महीने में आतिशी मारलेना समेत बहुत से सलाहकारों की नियुक्ति यह कहकर रद्द कर दी गई थी कि उनके पद मंजूर नहीं थे।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts