अधिकारियों ने गुरूजियों की वरिष्ठता चुरा ली: सीएम सर, वापस दिला दो ना | Khula khat @ CM Sivraj singh

02 August 2018

सीएम सर, सरकार हमारे साथ अन्याय कर रही हम 1997-98 से गुरूजी पद पर बिना ब्रैक से सेवाऐ दे रहे हैं। हमने ग्रामीण इलाकों मे पेड़ के नीचे तथा किराये के मकान मे पढ़ाकर बच्चों का भविष्य उज्जवल किया। हमारे पढ़ाए बच्चे एमबीबीएस अध्यापक बन हमारे से अधिक वेतन ले रहे हैं, हमारी योग्यता भी शिक्षाकर्मी के समान है। जो शिक्षाकर्मी ने काम किया वो हमारे गुरूजी ने भी किया और कर रहे हैं। पल्स पोलियो, जनगणना चुनाव में सभी जगह सेवा दे रहे हैं। लेकिन हमारे साथ शोषण हो रहा। 

सरकार ने शर्त रखी ओर पात्रता परीक्षा उतीर्ण गुरूजी को शिक्षाकर्मी मान लिया जायेगा पर उतीर्ण होने के बाद भी हमे 2008 मे संविदा शिक्षक पर रखते हुऐ 2011 मे सहायक अध्यापक मे शामिल किया है जो अन्याय है। 21 जनवरी को मुख्यमंत्री महोदय ने उनके निवास स्थान पर शिक्षा विभाग मे संविलियन और गुरूजी वरिष्ठिता देने की घोषणा की है पर अधिकारीगण ने हमारे साथ गेम खेला ओर पोर्टल पर हमारी मांग को हटा दिया गया। 

हमारी नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता को देखते हुऐ शिक्षाकर्मी भी विरोध करने लगे क्योंकि उनकी सीनियरिटी प्रभावित होती नजर आ रही है लेकिन गुरूजी संघर्ष समिति मप्र ने शिक्षाकर्मी की वरिष्ठता को प्रभावित को ध्यान मे रखते हुऐ 2003 से गुरूजी वरिष्ठता लेने की सरकार को सहमती दे दी है। 

गुरूजी संयोजक राकेश पटेल, मनोज गौतम, तेजनारायण द्धिवेदी, सह संयोजक जगदीश मंडलोई, गुरूजी वरिष्ठता को लेकर बहुत प्रयास कर रहे पर तानाशाही हमारी मांग को सीएम महोदय के निर्देश के बावजूद कोई कार्यवाही नही कर रहे। हम हमारी मांग bhopalsamachar.com. के माध्यम से सरकार और आम जनता तक पहुंचाने के लिये याचना कर रहे हैं। 
जगदीश मंडलोई 
सहसंयोजक, गुरूजी संघर्ष समिति म.प्र.
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->