दलित अधिकारी ने पानी मांगा, नहीं दिया तो 6 लोगों के खिलाफ FIR | UP NEWS

02 August 2018

कौशांबी। उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। उन्होंने बताया कि वो एक सरकारी दौरे पर थीं। उन्होंने ग्रामीणों से पीने के लिए पानी मांगा तो उन्होंने इशारे से मना कर दिया। महिला अधिकारी ने डीएम से इसकी शिकायत की, डीएम ने एफआईआर के आदेश दिए। जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है उनमें से तीन ग्राम प्रधान, एक ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, एक क्षेत्र पंचायत सदस्य तथा एक कोटेदार शामिल हैं। 

उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. सीमा ने बताया कि वह डीपीआरओ के निर्देश पर 31 जुलाई को विकास कार्यों की समीक्षा करने मंझनपुर विकास खण्ड के अंबावा पूरब गांव गई थीं। वह अपने साथ पानी की बोतल लेकर गई थीं। उन्होंने बताया कि निरीक्षण देर तक चलने के कारण उनकी बोतल में पानी खत्म हो गया था। उन्होंने वहां मौजूद पदाधिकारियों से पानी मांगा तो उन्हें इशारा करके मना कर दिया गया। 

डॉक्टर सीमा ने बुधवार को इस मामले में डीएम मनीष वर्मा से लिखित शिकायत की। डीएम ने एसपी प्रदीप गुप्ता को इस मामले में केस दर्ज करने के निर्देश दिए। एसपी ने अंबावा पूरब के ग्राम प्रधान शिवसंपत, ग्राम भैला मकदूमपुर के प्रधानपति पवन यादव, ग्राम संइबसा के प्रधान अंसार अली, ग्राम अंबावा पुरब के क्षेत्र पंचायत सदस्य झल्लर तिवारी, ग्राम अंबावा पूरब के कोटेदार राजेश सिंह तथा ग्राम पंचायत विकास अधिकारी रविदत्त मिश्रा के खिलाफ एससी-एसटी कानून के तहत मामला दर्ज किया है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...