LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




बिना सूचना बांध के गेट खोले, 12 गांव में आई बाढ़, 24 परिवार छतों पर | MP NEWS

23 August 2018

इंदौर। पिछले दिनों शिवपुरी के सुल्तानगढ़ जल प्रपात में आई बाढ़ के बाद बिना सूचना बांध के गेट खोले जाने को लेकर काफी बवाल हुआ था। शासन स्तर पर स्पष्टीकरण भी दिया गया था और कहा गया था कि बिना सूचना के कभी किसी बांध के गेट नहीं खोले जाते परंतु रतलाम से खबर आ रही है अधिकारियों ने बिना सूचना के रेतम बैराज के 14 गेट खोल दिए जिससे नीमच जिले की मनासा तहसील के कई गांवों में बाढ़ के हालात बन गए। नीमच प्रशासन कुछ समझ पाता उससे पहले ही 12 गांव पानी से घिर गए। 24 परिवारों ने 5 घंटे छत पर बैठकर जान बचाई। 

रतलाम, नीमच, मंदसौर जिले में दो दिन से जारी भारी बारिश से नदी व नाले उफान पर आ गए। 24 घंटे में रतलाम जिले में 3.07 इंच, मंदसौर जिले में 5 तथा नीमच जिले में साढ़े 3 इंच बारिश हुई। भारी बारिश के चलते मंदसौर की मल्हारगढ़ तहसील में गाडगिल सागर भरने से इसके 7 गेट और उसके बाद रेतम बैराज के 14 गेट खोलना पड़े। इससे नीमच जिले की मनासा व जीरन तहसील के गई गांवों में बाढ़ जैसे हालत बन गए। दो गांव में सड़क बह गई। हालात तब बदतर हो गए जब सुबह-सुबह यहां भी तेज बारिश शुरू हो गई। इससे लोगों को संभलने का भी मौका नहीं मिला। कई घरों का सामान बह गया और सैकड़ों हेक्टेयर में फैली फसलें पानी में डूब गईं। 

नीमच जिले के मनासा के नलवा गांव की अरनिया नई आबादी में पांच फीट पानी भर गया। इससे 24 परिवार को बुधवार सुबह 5 बजे से छत पर बैठकर बरसते पानी में 5 घंटे गुजारना पड़े। पानी उतरने पर लोगों ने उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला। सेमली आंतरी में पंचायत भवन आधा डूब गया। यहां 4 परिवार ने छत पर चढ़कर जान बचाई। कुंदवासा में पुराना बांध टूटने से पानी गांव में घुसा। सेमली-इस्तमपुरा के बीच बनी पुलिया तथा अरनिया नई आबादी को लसूड़िया से जोड़ने वाली पुलिया पानी में बह गई। 

हमें तो गेट खोलने की सूचना ही नहीं दी 
मंदसौर के जल संसाधन विभाग ने रात में रेतम बैराज से पानी छोड़ने की सूचना नहीं दी थी। बिना सूचना के पानी छोड़ने से मनासा गांवों में हालात बिगड़े। हालांकि हमने स्थिति संभालने के लिए पूरा अमला लगा दिया। पानी छोड़ने की सूचना पहले दी जानी थी। 
राकेश कुमार श्रीवास्तव, कलेक्टर, नीमच 

मुझे ही 7.30 बजे बताया गेट खोल दिए हैं 
गेट खोलने से पहले सूचित करने का काम सिंचाई विभाग का था। मुझे भी सुबह 7.30 बजे सूचना मिली। विभाग के अधिकारियों से नीमच को सूचना देने के बारे में पूछा तो जवाब मिला था कि नीमच को सूचना दे दी है। यदि समय रहते सूचित नहीं किया है तो यह गंभीर लापरवाही है। इसे लेकर निश्चित कार्रवाई की जाएगी। 
ओपी श्रीवास्तव, कलेक्टर, मंदसौर 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->