दावे नहीं प्रमाण: छाते नहीं छत चाहिए, मामा नहीं सुनते, आप दिलाइए | MP NEWS

27 July 2018

भोपाल। अभी हाल ही में सोशल मीडिया पर छातों वाला एक फोटो वायरल हुआ। प्रदेश भर के तमाम दिग्गज मीडिया घरानों ने इसे प्रमुखता से दिखाया। इस फोटो में सैंकड़ों लोग बरसते पानी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आशीर्वाद देने छाते लेकर आए हैं। अब एक और फोटो सामने आया है। यह डिंडोरी के एक सरकारी स्कूल का है। इस फोटो में बच्चे क्लासरूम में छाते लेकर बैठे हैं, क्योंकि स्कूल की छत खराब है। 

जी हां, यह डिंडोरी का सरकारी स्कूल है। इंतजार करते करते थक चुके इस स्कूल के बच्चों ने भारत के राष्ट्रपति से गुहार लगाई है। उन्होंने बताया है कि स्कूल में कई सालों से छत खराब है। उसकी मरम्मत ही नहीं करवाई जा रही। बारिश के मौसम में स्कूल के हर कमरे में पानी टपकता है और बच्चों को छाते लेकर बैठना पड़ता है। 

Dear President please help us

MadhyaPradesh: Students of a Govt school in Dindori marched to the District Council & submitted a memorandum addressing President of India, stating,"During monsoon water drips from the roof in every room,there are no washrooms,& its been like this for many years, please help us."
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->