पहले तमतमाए नंदकुमार सिंह निकले, फिर मंत्री अर्चना चिटनीस भी चली गईं | MP NEWS

04 July 2018

बुरहानपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की महत्वाकांक्षी योजना सरल बिजली बिल एवं बकाया माफी के शुभारंभ अवसर पर ही यहां अपशगुन हो गया। बिजली कंपनी द्वारा मराठा मंगल कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में महापौर का अपमान किया गया। महापौर अनिल भौंसले भड़क उठे और भरे मंच पर अधिकारियों को खरीखोटी सुनाईं। इसके बाद जब सांसद नंदकुमार सिंह चौहान को मंच पर भाषण देने आमंत्रित किया तो वो भी बिना भाषण दिए चले गए। कार्यक्रम में मंत्री अर्चना चिटनीस भी मौजूद थीं परंतु महापौर और सांसद के बाद उन्होंने भी कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया। इस तमाशे में हिताग्रहियों को 5 घंटे तक परेशान होना पड़ा। 

महापौर अनिल भौंसले भड़के
मुख्यमंत्री सरल बिजली बिल व मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना का प्रदेश भर में शुभारंभ हुआ है। मराठा मंगल कार्यालय में योजना के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम रखा गया था। जिसमे सांसद नंदकुमार सिंह चौहान और महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस भी शामिल हुए लेकिन कार्यक्रम में हंगामा हो गया। सांसद और मंत्री की मौजूदगी में महापौर अनिल भोंसले ने बिजली कंपनी के अफसरों द्वारा उन्हें मंच से भाषण नहीं देने का आरोप लगते हुए अपना विरोध दर्ज कराया और अफसरों को खरी खोटी सुनाने लगे।

पहले नंदकुमार सिंह, फिर मंत्री अर्चना चिटनीस ने बायकॉट किया
उन्होंने कहा कि जानबूझ कर बिजली विभाग द्वारा एक जनप्रतिनिधि का अपमान किया गया है, बिजली विभाग द्वारा बुलाने पर भी महापौर अनिल भोसले का गुस्सा शांत नही हुआ इसके बाद जब सांसद नंदकुमार सिंह चौहान की भाषण की बारी आई तो उन्होने भी बिजली कंपनी के अफसरों पर नाराजगी जाहिर की और इसे जनता के द्वारा चुने हुए महापौर का अपमान बनाते हुए कार्यक्रम को बिना भाषण दिए छोडकर चले गए। उनके साथ साथ मंत्री अर्चना चिटनीस भी कार्यक्रम को बीच मे ही छोड़ कर चली गई।

5 घंटे तक परेशान होते रहे हितग्राही
मंत्री चिटनीस ने कहा बिजली कंपनी के अफसरों से गलती हुई है, भविष्य में हिदायत दी जायेगी कि वह महापौर को भी बोलने का मौका दें। सांसद और महापौर के कार्यक्रम छोड कर जाने के बाद प्रमाणपत्र वितरण कार्यक्रम मे अफरा तफरी मच गई, वहीं अधिकारियों के भी हाथ पैर फूल गए और माफ़ी का दौर भी शुरू हो गया। हितग्राहियो को भी पांच घंटे तक भूखे प्यासे रहकर कार्यक्रम में परेशानी का सामना करना पड़ा। बिजली वितरण कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि त्रुटीवश एैसी गलती हुई है, जिसके लिए हमने माफी भी मांग ली है। हालांकि यह भी चर्चा है कि यह गुटबाजी के कारण हुआ।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->