#उड़ताMP: श्रुति के बाद अदिति गिरफ्तार, भोपाल में स्टूडेंट्स को सप्लाई करती थी ड्रग्स | MP NEWS

06 July 2018

भोपाल। बैतूल के यश पाठे सुसाइड केस में गिरफ्तार की गई विधानसभा के पूर्व सचिव सत्यानारायण शर्मा की बेटी श्रुति शर्मा पर आरोप है कि वो LNCT MEDICAL COLLEGE में स्टूडेंट्स को ड्रग सप्लाई करती थी। अभी इस केस की जांच पूरी नहीं हुई है और एक नई गिरफ्तारी हो गई। इस बार आदिति शर्मा को गिरफ्तार किया गया है। वो अपना नाम दीपिका दुबे भी बताती है। अदिति मप्र पुलिस के रिटायर्ड हवलदार की बेटी है। आरोप है कि अदिति भोपाल में COLLEGE STUDENTS को MDMA (मिथाइल एनेडियो ऑक्सीमीथेंफेट एमीन) नाम का खतरनाक नशीला पदार्थ सप्लाई करती थी। उसके पास से पुलिस ने 100 ग्राम MDMA (मिथाइल एनेडियो ऑक्सीमीथेंफेट एमीन) बरामद किया है। 

पुलिस सूत्रों का कहना है कि एसटीएफ ने गुरुवार को ISBT के पास से अदिति एवं उसके एक साथी को गिरफ्तार किया है। उनके पास से 100 ग्राम प्रतिबंधित नशीला पदार्थ MDMA (मिथाइल एनेडियो ऑक्सीमीथेंफेट एमीन) बरामद किया गया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत पांच लाख रुपए बताई जा रही है। अदिति, मुंबई से यह मादक पदार्थ लाकर स्टूडेंट्स एवं HOOKAH LOUNGE में बेचती थी। पुलिस का दावा है कि अदिति पिछले 1 साल से यह कारोबार कर रही थी। STF ने गुरुवार शाम ISBT के पास से श्रीराम काॅलोनी, मिसरोद निवासी 28 वर्षीय अदिति शर्मा उर्फ दीपिका दुबे और साथी 36 वर्षीय जफर हुसैन को गिरफ्तार किया है। 

रिटायर्ड हवलदार की बेटी है ADITI SHARMA

अदिति ने बीसीए किया है। वह श्रीराम काॅलोनी में 8 वर्षीय बेटी व माता-पिता के साथ रहती है। उसके पिता मप्र पुलिस में हवलदार के पद से रिटायर्ड हुए हैं। अदिति ने बताया कि वह इवेंट मैनेजमेंट का काम करती है। इवेंट के सिलसिले में उसका मुंबई आना-जाना होता था। उसके एक दोस्त के माध्यम से ही जफर हुसैन से पहचान हुई थी। जफर चौथी क्लास तक पढ़ा हुआ है। जफर हुसैन से मिलने के बाद अदिति इस धंधे में उतर आई। 

नशा करने वाले को पता तक नहीं चलता उसके साथ क्या हो रहा है

अदिति और जफर को एसटीएफ ने नारकोटिक्स के स्पेशल जज गिरीश दीक्षित की कोर्ट में पेश किया गया। जज ने जब अदिति उर्फ दीपिका से पूछा कि एमडीएमए तुम्हारे पास कहां से आया। दीपिका का कहना था कि उसे जानकारी नहीं है। किसी ने उसके बेग में रख दिया होगा। जमानत का लाभ लेने के लिए दीपिका कोर्ट में बेटी को साथ लाई थी। कोर्ट ने आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर सौंप दिया है। अधिकारियों का कहना है कि अदिति द्वारा स्टूडेंट्स, हुक्का और लाउंज में एमडीएमए की सप्लाई की जाती थी। एमडीएमए का सेवन करने वालों में सबसे अधिक संख्या कालेज स्टूडेंट्स की है। इसका असर लगभग 48 घंटे रहता है। जिसमें नशा करने वाले को यह पता नहीं होता कि उसके साथ क्या हो रहा है। 

भोपाल में MDMA का यह पहला मामला

मुंबई में एक ग्राम एमडीएमए की कीमत 1200 रुपए है। आरोपी यह नशीला पदार्थ लाकर राजधानी में 5000 रुपए प्रति ग्राम के हिसाब से सप्लाई करते थे। राजधानी में एमडीएमए बरामद होने का संभवत: पहला मामला सामने आया है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week