MP के HOCKEY PLAYER के लिए डे-बोर्डिंग और गेस्ट स्कीम शुरू

10 July 2018

GWALIOR: भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी में कुछ कर दिखाने की इच्छा रखने वाली हॉकी में बुलंदियों को छूने का जज्बा रखने वाली प्रतिभाओं के लिए मध्यप्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी ग्वालियर ने डे-बोर्डिंग और गेस्ट स्कीम शुरू की है। स्थानीय प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के उद्देश्य से यह स्कीम शुरू की है। इसके अलावा अकादमी की बैक स्ट्रेंथ तैयार होने में भी बड़ी मदद मिलेगी। हालांकि शुरूआत में एक से दो साल में नतीजे नहीं मिलेंगे, लेकिन आने वाले समय में यही खिलाड़ी हॉकी में देश का भविष्य बनेंगी। इसके बाद स्थानीय व अंचल के साथ देश की बालिकाएं इस मंच के माध्यम से खुद को साबित कर सकेंगी। महिला हॉकी अकादमी में शुरू हुई प्रदेश की इस पहली स्कीम में प्रतिभागियों को राज्य अकादमी की तर्ज पर खेलने की सभी सुविधाएं मिलेंगी। केवल सुबह और शाम के ट्रेनिंग सेशन के बाद ही ये प्रतिभागी अपने-अपने घर जा सकेंगे।

डे-बोर्डिंग और गेस्ट स्कीम का पहला बैच नए सत्र से शुरू हो गया है। बैच में 14 को डे-बोर्डिंग और 10 बालिकाओं को गेस्ट स्कीम में चयन प्रक्रिया के माध्यम से जगह दी गई है। अंडर 12 से अंडर 13 अायु वर्ग तक के लिए शुरू हुई इस स्कीम (डे-बोर्डिंग) में चयनित प्रतिभागी ग्वालियर से हैं। इसके अलावा मुरैना से भी कुछ युवतियों को मौका मिला है। वहीं गेस्ट स्कीम में प्रदेश के प्रतिभागियों की संख्या ज्यादा है। जानकारी के अनुसार दोनों स्कीम के प्रतिभागी भी कंपू खेल परिसर में ही हॉकी के गुर सीखेंगे।

डे-बोर्डिंग

इसमें स्थानीय प्रतिभागियों को खेल विभाग से खेलने के लिए हॉकी और जरूरी सभी इक्विपमेंट मिलेंगे। सुबह-शाम को ट्रेनिंग, बड़े टूर्नामेंट खेलने का एक्सपोजर तथा टूर्नामेंट में खर्च होने वाला टीए-डीए भी खिलाड़ियों को दिया जाएगा। यह व्यवस्था गेस्ट (आमंत्रित) स्कीम में शामिल खिलाड़ियों पर भी लागू होगी। 

गेस्ट स्कीम 

डे-बोर्डिंग में स्थानीय और अंचल की युवतियों को मौका मिलेगा। जबकि गेस्ट स्कीम में प्रांत के बाहर की भी प्रतिमाएं इस सुविधा से लाभान्वित हो सकेंगी।

कंपू खेल परिसर में मप्र राज्य महिला हॉकी अकादमी के दो एस्ट्रोटर्फ मैदान के बाद अब एक हॉफ मैदान और तैयार होगा। एस्ट्रोटर्फ युक्त इस मैदान को बनाने के लिए विभाग ने भी स्वीकृति दे दी है। नवनिर्मित मैदान के पास पड़ी शेष जगह पर इसके लिए ग्राउंड बनाया जाएगा। यह मैदान डे-बोर्डिंग और गेस्ट स्कीम में शामिल प्रतिभागियों की प्रैक्टिस और ट्रेनिंग के लिए रहेगा। हालांकि अभी यह लाेग महिला हॉकी अकादमी के ही दोनों एस्ट्रोटर्फ युक्त मैदानों पर हॉकी का प्रशिक्षण लेंगे।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts