GAYATRI SUCIDE CASE: 'उसी दिन POLICE सुन लेती तो गायत्री आज जिंदा होती' - Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh)

Bhopal की ताज़ा ख़बर खोजें





GAYATRI SUCIDE CASE: 'उसी दिन POLICE सुन लेती तो गायत्री आज जिंदा होती'

10 July 2018

INDORE: 5 जुलाई को आत्महत्या करने वाली द्वारकापुरी थाना क्षेत्र की छात्रा गायत्री जाट का अंतिम संस्कार कर परिवार सोमवार को राजस्थान से लौटा। पुलिस के अनुसार मामले में आरोपित मिलन, उसकी मां सोनम, पिता विनोद तथा नाबालिग भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 10वीं की छात्रा तीन दिन से द्वारकापुरी थाने जा रही थी, उसे वहीं रहने वाला मिलन चौहान परेशान कर रहा था। वह आए दिन उसका पीछा और छेड़छाड़ करता था। सोमवार दोपहर में पुलिस अफसर गायत्री के घर पहुंचे। पिता जगदीश जाट अफसरों को देखते ही बोले- अब आए हो। पुलिस उसी दिन सुन लेती तो आज हमारी बेटी जिंदा होती। हम तीन दिन तक थाने के चक्कर लगाते रहे, किसी ने ध्यान नहीं दिया। रहवासियों ने कहा- पुलिस ही मदद नहीं करेगी तो बदमाशों के हौसले बुलंद होंगे ही। इधर आरोपी मिलन के घर पर गुस्साए लोगों ने पत्थर फेंके, खिड़की के कांच फोड़ दिए। एक्टिवा में भी आग लगा दी।

छात्रा से जानकारी मिलने परिजन युवक के घर समझाने गए थे। वहां युवक की मां माया ने उलटा उन्हें तेजाब फेंकने की धमकी देते हुए कहा था कि चाहे कितनी ही पुलिस आ जाए। मेरे बेटे का कुछ नहीं कर सकती। पुलिस को पैसा जाता है। लड़की के बताने के बाद भी पुलिस दिखवाते हैं, कहकर टालते रहे। 5 जुलाई गुरुवार को मिलन ने अपहरण करने की धमकी दी तो वह शाम चार बजे पिता के साथ थाने गई, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। आखिर में रात 9.30 बजे छात्रा ने जान ही दे दी। सुसाइड नोट में छात्रा ने पिता से माफी मांगते हुए खुद की इमेज खराब होने की बात कही। इधर, छात्रा की मौत के बाद परिजनों ने थाने और युवक के घर के बाहर हंगामा किया। परिजन की पुलिस से झड़प भी हुई।

छात्रा द्वारा फांसी लगाए जाने के बाद क्षेेत्र के रहवासियों ने आरोपितों के परिवार द्वारा अवैध काम किए जाने की शिकायत पुलिस से की थी। पुलिस इस मामले में आरोपितों की संपत्ति की भी जांच कर रही है। पुलिस आरोपी युवक और उसके परिवार के कब्जे के मकानों के कागजात जांच रही है। यदि यह अवैध पाए जाते है तो जिस तरह दूसरे गुंडों के मकान नगर निगम द्वारा तोड़े गए हैं, उन्हें भी तोड़ा जाएगा। इस संबंध में डीआईजी ने अधिकारियों को निर्देश दिए है। आसपास रहने वाले लोगों ने पुलिस को बताया था कि आरोपी युवक मिलन की मां ब्याज पर पैसे देने का काम करती है, वह पैसा देकर लोगों के मकान पर कब्जा भी कर लेती थी। इसके साथ ही युवतियों से अवैध काम कराए जाने का आरोप भी रहवासियों द्वारा लगाया गया है।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->