Loading...

शिवराज सिंह 2013 में फर्जी वोटिंग से जीते थे: कमलनाथ

भोपाल। मप्र कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अगल 2013 के चुनाव से पहले यह फर्जीवाड़ा पकड़ लिया जाता तो मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार होती। उन्होंने खुला आरोप लगाया कि भाजपा फर्जी वोटिंग के आधार पर चुनाव जीती है। 2018 के चुनाव के लिए भी भाजपा ने साजिश रच ली थी लेकिन खुलासा हो गया। कमलनाथ ने कहा, 'हमारा मानना है कि वोटर लिस्ट में 12% नाम फर्जी हैं। पिछले चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के बीच 6-7 फीसदी का अंतर था। अगर तब कोई फर्जी वोटर नहीं होता, तो नतीजे बेहद अलग हो सकते थे। 

फर्जी वोटर मामले में कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी मध्य प्रदेश में वोटर लिस्ट में गड़बड़ियां कर फिर से चुनाव जीतना चाह रही है। उन्होंने कहा कि फर्जी वोटर लिस्ट तकनीक का मामला है। हमने इसकी जांच की और पाया कि लगभग साठ लाख मतदाता फर्जी हैं। कमलनाथ कहते हैं, 'इन 60 लाख फर्जी वोटरों में हमने पाया कि इनके नाम और चेहरे तो एक हैं, लेकिन ये अलग-अलग बूथों पर रजिस्टर्ड हैं। वहीं कुछ मामलों में नाम और पोलिंग बूथ भी एक हैं। 

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कहते हैं कि पार्टी ने 101 विधानसभा क्षेत्रों में फर्जी वोटर लिस्ट का मुआयना किया। वह कहते हैं, 'यह पूरी तरह तकनीक आधारित फर्जीवाड़ा है। करीब 60 लाख वोटर फर्जी है। यह कोई गलती नहीं, बल्कि जानबूझकर किया गया। निश्चित रूप से बीजेपी इसके पीछे हैं। वह कहते हैं, 'वोटर लिस्ट प्रजातंत्र की बड़ी नींव है। उन्होंने कहा कि चुनाव की शुरुआत मतदाता सूची से होती है। चुनाव आयोग का दायित्व है कि सही मतदाता सूची दे। 
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com