टीकमगढ में आॅनर सुसाइड के बाद भड़की हिंसा, पुलिस अधिकारी को पीटा, आगजनी, पथराव

18 June 2018

पृथ्वीपुर/टीकमगढ। लवमैरिज के मामले में यदि परिवारजन अपनी प्रतिष्ठा के नाम पर प्रेमी युगल की हत्या करते हैं तो इसे आॅनर किलिंग कहा जाता है परंतु यहां आॅनर सुसाइड का केस सामने आया है। यहां एक लड़की ने गैर बिरादरी के युवक के साथ लवमैरिज कर ली। लड़की के पिता ने इसे प्रतिष्ठा का विषय माना और सुसाइड कर लिया। बिंदपुरा गांव में 48 वर्षीय व्यक्ति का शव पेड़ से लटकते मिला। इस सुसाइड के बाद इलाके में हिंसा भड़क गई। भीड़ ने गैर बिरादरी के युवक पर हत्या का अरोप लगाते हुए उसका घर फूंक डाला, पुलिस पर हमला किया। पुलिस के वाहन तोड़े और जमकर पथराव हुआ। हालात यह बने कि पुलिस को स्थिति नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। 

गैर बिरादरी के युवक पर हत्या का आरोप 

पुलिस के मुताबिक, ग्राम बिंदपुरा में मनीराम कुशवाहा गांव के पास नीम के पेड़ से फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस इस मामले की कार्रवाई कर रही थी, तभी आक्रोशित भीड़ ने बिंदपुरा स्थित एक मकान में आगजनी कर दी। मृतक के परिजनों तथा ग्रामीणों का आरोप था कि एक गैर बिरादरी का लड़के का मृतक की लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था। प्रेमी, लड़की के पिता को धमकी देता था। परिजनों ने आरोप लगाया कि इन्हीं लोगों ने हत्या करके शव को टांग दिया।

पुलिस अधिकारी को घेरकर मारा

मौके पर एसआई एन कौल मौके पर पहुंचे तो उनके साथ भी जमकर मारपीट की गई। फिर ग्रामीणजन मनीराम कुशवाहा का शव लेकर पृथ्वीपुर स्थित फब्बारा चौक आ गए और चक्काजाम कर दिया। एएसपी सुशील जैन एवं अन्य अधिकारी परिजनों को समझाते रहे, लेकिन यह नहीं माने। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और भीड़ को यहां से हटाया गया। पुलिस शव को लेकर पोस्टमार्टम रूम पहुंची।

पुलिस पर पथराव, वाहनों में तोड़फोड़

ओरछा मार्ग पर जुटी ग्रामीणाें की भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया। जवाब में पुलिस निरंतर आंसू गैस के गोले छोड़ती रही। मौके पर पहुंचे कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल एवं एसपी कुमार प्रतीक ने माइक पर भीड़ को समझाइश दी, तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। परिजन पीएम के बाद शव को अपने गांव ले गए। गांव में ग्रामीणों और पुलिस की उपस्थिति में अंतिम संस्कार किया गया।

एक मई को कोर्ट में दर्ज हुई थी लवमैरिज

पुलिस का कहना है कि लड़का और लड़की द्वारा एक मई को टीकमगढ़ में कोर्ट मैरिज किए जाने की बात सामने आ रही है। इसके फोटोज भी उपलब्ध हुए हैं। कोर्ट मैरिज की भी जांच की जाएगी। आरोपी युवक द्वारा मृतक की बेटी पर धर्म परिवर्तन कर शादी करने का बनाया जा रहा था। ऐसा न करने पर पूरे परिवार को दी जा रही थी जान से मारने की धमकी। लड़की का आरोप है कि लड़के ने अश्लील फोटो बनाए और फिर उसे वायरल करने की धमकी देकर उसे लगातार ब्लैकमेल किया जा रहा है।

मृतक के भाई रमेश ने एसआई को भीड़ से बचाया

इस पूरे घटनाक्रम में मृतक का भाई रमेश कुशवाहा असली हीरो बनकर सामने आया। दरअसल सुबह करीब 10 बजे थाना प्रभारी आनंद सिंह परिहार को सूचना मिली कि लड़की के परिजनों ने लड़के के घर में आगजनी कर दी है। थाना प्रभारी ने फौरन एसआई कौल को मौके पर भेजा। कौल जैसे ही लड़के के घर पहुंचे तो मृतक के परिजनों और भीड़ ने उन्हें घेर लिया। देखते ही देखते कौल के साथ मारपीट शुरु कर दी। एसआई को बेरहमी से पिटता देख मृतक के भाई रमेश का दिल पसीज गया और वह सीना तानकर एसआई के आगे खड़ा हो गया। उसने परिजनों और लोगों से हाथ जोड़कर एसआई को न मारने का आग्रह किया। रमेश की बात पर परिजन और ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ। इसके बाद रमेश ने एसआई को भीड़ से सुरक्षित बाहर निकाला। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बेकाबू भीड़ से एसआई को बचाने में रमेश का अहम योगदान है।

कब क्या हुआ?

- सुबह 5 बजे परिजनों को मनीराम कुशवाहा की मौत की सूचना मिली। 
- 8.30 बजे तक पुलिस परिजन के घर नहीं पहुंची। 
- 8.40 बजे परिजन लड़के के घर गए और आगजनी कर दी। 
- 9.10 बजे मृतक के परिजनों ने एसआई को घेरकर पीटा। 
- 9.30 बजे शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया।
- 10.35 बजे से आक्रोशित लोगों ने पथराव शुरु कर दिया।
- 10.40 बजे पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने आंसू गैस छोड़ी। 
- 11 बजे : एसपी कुमार प्रतीक मौके पर पहुंचे। 
- 01 बजे तक समझाइश का दौर चलता रहा। बाद में मामला शांत हुआ।
- 1.30 बजे परिजन शव अपने गांव ले गए और अंतिम संस्कार किया गया।

चार मामले दर्ज

पुलिस पर हुए पथराव का मामला दर्ज किया है। एसआई एन कौल के साथ हुई मारपीट को लेकर भी मामला दर्ज किया गया है। साथ ही लड़के के मकान में आगजनी एवं वाहनों में की आगजनी को लेकर भी पुलिस ने मामला दर्ज किया है।
बलवा: 15 नामदज आरोपी, 200- 300 अज्ञात आरोपी
एसआई से मारपीट: 10 आरोपी नामजद, 150-200 अज्ञात आरोपी
आगजनी: 10 नामजद आरोपी, 100 से 150 अज्ञात आरोपी लड़के और परिजनों पर धारा 345, 323, 366 तथा 506 का मामला दर्ज।

पुलिस का कहना- मनीराम ने खुदकुशी की

छतरपुर से आए डीआईजी अनिल माहेश्वरी ने बताया कि मनीराम की आत्महत्या का मामला सामने आया है। पुलिस ने मर्ग कायम किया है। जिसे विवेचना में लिया गया है। मृतक की लड़की की रिपोर्ट पर पुलिस ने लड़का और उसके परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts