कमलनाथ के छिंदवाड़ा में नेताओं के काले कारोबार, एसपी गौरव तिवारी भी लाचार

13 June 2018

जबलपुर। मप्र कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष एवं कांग्रेस की ओर से सीएम प्रत्याशी के दावेदार कमलनाथ के छिंदवाड़ा में भाजपा और कांग्रेस के काले कारोबारों का खुलासा हुआ है। हालात यह हैं कि दोनों दलों के नेता खुलेआम काले धंधे कर रहे हैं और कटनी में 500 करोड़ का हवाला कारोबार पकड़कर मप्र पुलिस के हीरो बन गए आईपीएस गौरव तिवारी भी इन्हे रोकपाने में बिफल हो साबित हो रहे हैं। हालात यह हैं कि एक निगरानी शुदा बदमाश को भाजपा में पदाधिकारी बना दिया गया और जब पुलिस ने उसे हिरासत में लिया तो विधायक उसके समर्थन में धरने पर बैठ गए। भाजपाईयों की दलील थी कि पुलिस केवल भाजपा से जुड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है जबकि कांग्रेस से जुड़े लोगों के अवैध धंधे खुलेआम चलते है। 

निगरानी शुदा बदमाश के समर्थन में भाजपा विधायक ने दिया धरना

बीते रोज दमुआ थाना पुलिस ने एक निगरानी शुदा बदमाश कल्लू राजगीर को अवैध शराब के मामले में पकड़ा। उसके साथ 3 अन्य लोग भी थे। पुलिस ने कल्लू राजगीर की ठीक वैसे ही खातिरदारी की जैसे कि निगरानी शुदा बदमाशों कि की जाती है परंतु कुछ ही देर बाद विधायक नत्थनशाह कवरेती अपने समर्थकों के साथ थाने पर आकर धरना देने लगे। कहा गया कि निगरानी शुदा बताश कल्लू राजगीर भाजपा का मंडल उपाध्यक्ष बन गया है। अब उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए। थाना प्रभारी दीपक यादव का कहना है कि कल्लू के खिलाफ कुल 21 मामले दर्ज हैं। 

कांग्रेस के काले धंधे नहीं पकड़ते तो BJP क्यों पकड़ते हो

चौंकाने वाली बात यह है कि यहां पुलिस पर दवाब इसलिए नहीं बनाया जा रहा था कि कल्लू राजगीर निर्दोष था और पुलिस ने गलत कार्रवाई की थी बल्कि इसलिए बनाया जा रहा था कि पुलिस केवल भाजपा नेताओं से संबद्ध अवैध धंधों पर ही कार्रवाई करती है। कांग्रेस से जुड़े काले कारोबारियों पर कोई कार्रवाई नहीं करती। विधायक ने इस तरह की कार्रवाई करने वाले पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग की और धरने पर डटे रहे। 

मप्र पुलिस का सिंघम फेल, थाना प्रभारी को हटाया

चौंकाने वाली बात यह है कि कटनी में 500 करोड़ का हवाला कारोबार पकड़कर मंत्री संजय शर्मा की नींद उड़ा देने वाले भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी गौरव तिवारी भी छिंदवाड़ा में राजनीतिक संरक्षण में चल रहे अवैध कारोबारों को बंद नहीं करा पाए। उल्टा दवाब में आकर अपने ही विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। एसपी तिवारी ने दमुआ थाना प्रभारी दीपक यादव और हेड कांस्टेबल महेश भावरकर को हटा दिया है। 

सबका वीडिया बनाया है, सब नशे में थे

दीपक यादव, तत्कालीन थाना प्रभारी दमुआ का कहना है कि सभी का शराब का सेवन करते हुए वीडियो बनाया गया है। कल्लू निगरानी बदमाश है। उसके ऊपर 21 मामले दर्ज है। जिसमें संगीन, चोरी, मारपीट और अवैध कारोबार के मामले शामिल है। मामले की भनक लगते ही थाने में विधायक नत्थन शाह कवरेती आ गए।

क्या यही है कमलनाथ का छिंदवाड़ा मॉडल

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बार बार दोहराते हैं कि यदि विकास देखना है तो छिंदवाड़ा आइए। सवाल यह है कि क्या यही है कमलनाथ का छिंदवाड़ा मॉडल जिसमें दोनों दलों के नेताओं के संरक्षण में अवैध कारोबार चल रहे हैं। पुलिस को स्वतंत्र रूप से काम नहीं करने दिया जा रहा। कार्रवाई करने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है और पुलिस की स्त्रतंत्रता की रक्षा के लिए ना तो कांग्रेस सामने आती है ना भाजपा। 
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->