मप्र के लिपिक वर्ग ने किया आमरण अनशन का ऐलान

08 June 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष श्री मनोज वाजपेयी एवं संघ के संरक्षक इंजीनियर श्री सुधीर नायक जी के नेतृत्व में लिपिकों का महाआंदोलन आमरण अनशन दिनांक 11 जून 2018 से अनिश्चचित कालीन रखा गया है। जिसमे पूरे मध्यप्रदेश से लगभग 10000 लिपिक साथी इस आमरण अनशन में शामिल होंगे। गौरतलब है कि लिपिक संवर्ग की विसंगति सन 1981 से चली आ रही है पटवारी, ग्राम सेवक, ग्राम सहायक, पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी व् अन्य संवर्ग लिपिक वर्ग से वेतन में पीछे था वह आज लिपिक वर्ग से अधिक वेतन ले रहे हैं और इस तरह आज लिपिक और भृत्य के वेतन में सिर्फ 100 रूपए का अंतर रह गया है।

इस सम्बंध में माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा रमेशचंद्र शर्मा जी की अध्यक्षता में एक हाई पावर कमेटी का गठन किया गया था और कमेटी ने पाया कि वाकई में लिपिकों के साथ धोखा हुआ है परीक्षण के उपरांत कमेटी ने सम्पूर्ण प्रस्ताव जुलाई 2017 में शासन को सौंप चुका है। जिसमे लिपिक संवर्ग मंत्रालय एवम चतुर्थ संवर्ग से सम्बंधित कुल 23 अनुसंशाए कमेटी के द्वारा शासन के संज्ञान में लाया गया, जिसका निराकरण शासन द्वारा आज दिनांक तक नही किया गया है।जबकि माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा 1 नवम्बर 2017 को मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस के दिन भी यह घोषणा की थी कि हमारे लिपिक भाई दिन भर कार्यालय के काम मे लगे रहते हैं उनके लिये भी मैन सोचा है। बस इसीलिए पिछले 29 मई 2018 की कैबिनेट में लिपिकों को भरोसा था कि उनका प्रस्ताव भी केबिनेट में रखा जाएगा किन्तु शासन ने लिपिकों की उम्मीद पर पानी फेर दिया है।

इसलिए वेतन विसंगति में सुधार की मांग को लेकर लिपिकों ने सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का मन बना लिया है। और लिपिक संवर्ग 11 जून 2018 को प्रांताध्यक्ष एवम संरक्षक महोदय के नेतृत्व में मंत्रालय के ठीक सामने मन्नत यात्रा के श्रीफल के साथ आमरण अनशन में बैठकर एक नया इतिहास रचने को तैयार है।
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->