LNCT: रैगिंग से परेशान MBBS छात्र फांसी पर झूला

14 June 2018

भोपाल। मप्र की राजधानी भोपाल में LNCT Group of Colleges द्वारा LN Medical College and Research Centre, Bhopal में रैगिंग का खुलासा हुआ है। इतना ही नहीं कॉलेज में प्रबंधन और छात्रों के बीच गुटबाजी भी सामने आई है। दोनों के बीच में फंसे छात्र पिस रहे हैं। इसी के चलते बैतूल निवासी MBBS छात्र यश पाठे ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। दरअसल उसने 1 साल पहले रैगिंग की शिकायत ऑनलाइन एंटी रैकिंग स्क्वॉयड से की थी। कॉलेज प्रबंधन एवं आरोपित छात्र दवाब बना रहे थे कि वो शिकायत वापस ले ले और छात्रों का दूसरा गुट दवाब बना रहा था कि वो अपनी शिकायत पर डटा रहे। यश दोनों गुटों से प्रताड़ित था, अंतत: उसने सुसाइड कर लिया। 

lnct medical college bhopal में हुई Ragging

जानकारी के अनुसार, बैतूल के सिंदूरजना निवासी यश पाठे पिता प्रह्लाद पाठे लक्ष्मीनारायण मेडीकल कॉलेज में एमबीबीएस सेकेंड ईयर का छात्र है। उसकी पिछले साल रैगिंग हुई थी। जिसकी उसने कॉलेज प्रबंधन से शिकायत करने के साथ ही ऑनलाइन भी शिकायत की थी। सालभर बाद उस पर इस बात का दबाव था कि वह रैगिंग की शिकायत वापस ले ले, लेकिन छात्रों का दूसरा गुट शिकायत वापस लेने से मना कर रहा था। बताया जा रहा है कि रैगिंग का दंश झेलने के बाद यश पाठे दोनों गुटों के बीच में फंस गया था। दोनों तरफ से उसे धमकियां मिल रहीं थीं। 

LNCT COLLEGE गुटबाजी और अपराधियों का अड्डा बना

जब शिकायत वापस लेने की बात आई तो 11 जून को छात्रों के दूसरे गुट ने उसके साथ मारपीट की। उसे बेल्टों से जमकर मारा। जिसके निशान यश की पीठ पर देखे जा सकते हैं। इससे डरकर यश 12 जून को अपनी मौसी के बेटे विजय पवार के घर बैतूल आ गया। मौसेरे भाई विजय ने बताया कि 13 जून को परीक्षा देने के लिए होशंगाबाद गया था, जब रात को 11 बजे के बाद वह बैतूल घर लौटा तो घर के दरवाजे बंद थे, घर में पीछे से घुसा तो देखा यश फांसी पर लटका हुआ।

छात्रा ने फोन पर पिता को धमकाया

यश के पिता प्रहलाद पाठे का कहना है, दो दिन पहले उसके पास श्रुति शर्मा का कॉल आया था, जो कह रही थी कि आपके बेटे ने मेरे पर्स से 10,000 रुपये निकाल लिए हैं। वह मुझे आप वापस कर नहीं करेंगे तो मैं पुलिस कंप्लेन करुंगी। मैंने उसके दिए हुए एकाउंट नंबर पर पैसे डाले हैं।

बेटे ने बताया श्रुति और उसके दोस्त ने दबाव बनाया

पिता का कहना है कि उसके बाद मैंने यश से बात की तो उसका कहना था श्रुति शर्मा और उसके दोस्त मुझे रैगिंग की शिकायत वापस ना लेने को कह रहे थे, जब मैं नहीं माना और मुझे अपने चार दोस्तों के साथ चार घंटे तक मारपीट किया गया। यश मारपीट से बहुत आहत था और बैतुल आकर उसने अपने भाई के रूम में आकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। एसपी डीआर तेनीवार ने बताया, छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। मामले की जांच की जा रही है।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Popular News This Week