भोपाल: नेताओं के लिए कॉलोनी के मुख्यद्वार पर टांग दी जूतों की माला

27 June 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश में एक तरफ शिवराज सिंह सरकार के विधायक विकास यात्राएं निकाल रहे हैं तो दूरी तरह आम जनता उनके वादे याद दिला रही है एवं अपनी समस्याओं की तरफ ध्यान आकर्षित करने की कोशिश कर रही है। राजधानी भोपाल के उपनगर कोलार में वार्ड-83 में आने वाले ओम नगर के मुख्यमार्ग पर नागरिकों ने जूतों की माला बनाकर टांग दी है। नागरिकों का कहना है कि ये माला उन सभी नेताओं के लिए है जो वोट तो मांगते हैं लेकिन समस्याएं हल करने की तरफ ध्यान नहीं देते। बता दें कि इस वार्ड से पार्षद मनफूल सिंह मीणा हैं जो इलाके के दिग्गज भाजपा नेता श्याम सिंह मीणा की पत्नी हैं। 

इस माला को पुराने जूतों से तैयार करके इलाके में स्थित घरों की छत पर टांग दिया गया है। स्थानीय व्यापारी राजेश मिश्रा बताते हैं, 'अभी सिर्फ प्री-मॉनसून बारिश ही हुई है और इलाके की हालत देखते ही बनती है।' उन्होंने आगे कहा कि मानसून में स्थिति बद से बदतर हो जाएगी। उन्होंने भोपाल नगर निगम (बीएमसी) और नेताओं पर दोष मढ़ते हुए कहा कि हर साल नेता यहां आकर वोट मांगते हैं, लेकिन मॉनसून में होने वाली दिक्कतों के निवारण के लिए कोई कार्रवाई नहीं करते। 

नेता वोट मांगने आएंगे तो हम उनका बखूबी स्वागत करेंगे
एक दूसरे निवासी गणेश बघेल ने कहा, 'यहां तक कि बीएमसी अधिकारियों और स्थानीय पार्षदों को हम कई बार शिकायत भेज चुके हैं लेकिन कोई ऐक्शन नहीं लिया गया। सोसायटी में पीने के पानी की उचित व्यवस्था भी नहीं है और सड़कों की हालत बेहद खराब है।' 

उन्होंने आगे कहा, 'अभी तक हम विरोध करते रहे और बीएमसी अधिकारियों को ज्ञापन देते रहे ताकि वह हमारे मुद्दों को सुलझाएं लेकिन कोई कार्रवाई न होने पर हमने जूतों की माला तैयार की है। तो जैसे ही नेता यहां पर वोट मांगने आएंगे तो हम उन्हें दिखाएंगे कि स्वागत कैसे होता है।' 

घरों में भर जाता है सीवेज का पानी 
मामले में ओम नगर के पार्षद एम मीणा ने कहा, 'कॉलोनी की एंट्री के दाईं तरफ एक पुलिया का निर्माण कराया गया था जिसके नीचे सीवर लाइन भी बननी थी। हालांकि कॉन्ट्रैक्टर ने सीवेज लाइन का निर्माण नहीं किया। मैंने इस बारे में उच्च अधिकारियों से बात की है और लेकिन न तो कोई उनमें से मुआयने के लिए और न ही कोई ऐक्शन लिया।' मीणा ने कहा, 'इस वजह से कॉलोनी के एंट्रेस में सीवर का पानी भर जाता है जो लोगों के घरों में भी पहुंच जाता है।' 

भोपाल नगर निगम की सफाई 
वह बताते हैं कि करीब 10 हजार लोग यहां से रोज गुजरते हैं और कॉलोनी के लिए लोगों के लिए सीवर समस्या एक जटिल समस्या बन चुकी है। वहीं बीएमसी अधिकारियों के अनुसार, इलाके की नालियों से गंदगी हटा ली गई है लेकिन यह स्थायी उपाय नहीं है। दरअसल बारिश के पानी के निकासी के लिए वहां एक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट्स के साथ ड्रेनेज नेटवर्क की जरूरत है। इसी तरह की खबरें नियमित रूप से पढ़ने के लिए MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts