योगी आदित्यनाथ ने RSS की विवादित शाखा रोकने वाले IPS को हटाया

28 June 2018

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में सत्ता की खनक गूंज रही है। सरकारी दफ्तरों में भाजपा नेताओं और जमीनी इलाकों में आरएसएस की मनमानी खुलकर सामने आ रही है। यूपी के आगरा में एसपी सिटी कुंवर अनुपम सिंह आईपीएस को हटा दिया गया है क्योंकि उन्होंने उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने से इंकार कर दिया था जिन्होंने एक विवादित जमीन पर आरएसएस की शाखा पर पाबंदी लगा दी थी। अब यह मामला तूल पकड़ने लगा है। यूपी की पुलिस अपने तरीके से इस फैसले के खिलाफ एकजुट हो रही है।

पुलिस ने उर्स रोक दिया था आरएसएस ने शाखा शुरू कर दी

मामला आगरा के ताजगंज इलाके का है। इस इलाके में एक जमीन को लेकर दो समुदाय के बीच तनाव का माहौल है। यहां मजार के पास की जमीन पर दोनों समुदाय के लोग अपना-अपना दावा कर रहे हैं। 6 महीने पहले यहां उर्स का आयोजन किया जा रहा था जिसे पुलिस ने रोक दिया गया था। इसके बाद से ही यहां पुलिस को तैनात किया गया है। एक महीने से विवादित जमीन पर आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने शाखा लगानी शुरू कर दी। जब से आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने शाखा लगानी शुरू की थी, इलाके में तनाव बढ़ने लगा। पिछले बुधवार को पुलिस ने यहां अदालत में मामला होने और पूर्व में उर्स रुकवाने का हवाला देकर आरएसएस की शाखा पर पाबंदी लगा दी थी। यह कार्रवाई स्थानीय चौकी इंचार्ज राजकुमार यादव द्वारा की गई थी।

एसपी सिटी अनुपम सिंह आईपीएस ने कार्रवाई का समर्थन किया

पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के बाद यहां के बीजेपी विधायक मौके पर पहुंच गए और धरने पर बैठ गए। वे शिकायत करने कोतवाल शैलेंद्र सिंह के पास भी गए। शैलेंद्र सिंह ने भी अपने चौकी इंचार्ज का समर्थन किया, बाद में एसपी सिटी कुंवर अनुपम सिंह ने स्थानीय पुलिस कार्रवाई का समर्थन किया और कानून व्यवस्था की स्थापना और निष्पक्षता के लिए पुलिस की सराहना की। 

सीएम ने एसपी, कोतवाल और चौकी इंचार्ज सबको हटा दिया

स्थानीय पुलिस को विवादित जमीन पर आरएसएस कार्यकर्ताओं को शाखा लगाने से रोकना अब महंगा पड़ गया है। विभाग द्वारा की गई कार्रवाई का समर्थन करने वाले एसपी सिटी कुंवर अनुपम सिंह का तबादला कर दिया गया है। इसके साथ ही इस मामले में कार्रवाई करने वाले कोतवाल शैलेंद्र सिंह और चौकी इंचार्ज राजकुमार यादव को भी हटा दिया गया है। बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दखल के बाद की गई है। इससे पहले बीजीपी के आगरा दक्षिण विधायक योगेंद्र उपाध्याय सीकरी विधायक उदयभान सिंह इसी मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले थे। इस मुलाकात के बाद ही लखनऊ से एसपी सिटी को हटाने का फरमान जारी किया गया था। 

चौकी प्रभारी ने भगवा ध्वज फैंक दिया था: आरएसएस

आरएसएस के विभाग प्रचार प्रमुख का आरोप है कि चौकी प्रभारी ने जमीन पर शाखा लगा रहे आरएसएस कार्यकर्ताओं का भगवा ध्वज उखाड़कर फेंक दिया था और कहा था कि तुम यहां आतंकवादी बना रहे हो। उन्होंने कहा कि ऐसा हमला तो संघ पर समाजवादी पार्टी, बीएसपी और कांग्रेस की सरकार में भी नही हुआ। उन्होंने कहा कि जब हमने इसकी शिकायत इंस्पेक्टर से की तो उन्होंने कहा कि आप लोग शाखा क्यों लगा रहे हैं। 
इसी तरह की खबरें नियमित रूप से पढ़ने के लिए MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week