मंगल का राशि परिवर्तन और आप पर प्रभाव: यहां पढें | JYOTISH

01 May 2018

मंगल को क्रूर ग्रह माना जाता है। मंगल ग्रह ऊर्जा, शक्ति एवं पराक्रम का कारक है। इसके अलावा यह रक्तपात एवं ख़ून से संबंधित बीमारियों का भी प्रतिनिधित्व करता है। कर्क एवं सिंह राशि के लिए मंगल एक योगकारक ग्रह है और यह मेष एवं वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह है। मंगल साहस और संकल्प शक्ति को भी दर्शाता है। मंगल ग्रह 2 मई 2018, बुधवार को 16:49 बजे मकर राशि में गोचर करेंगे और 6 नवंबर तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। मंगल के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर होगा।

मेष राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल ग्रह का यह गोचर आपकी राशि के दसवें भाव में होने जा रहा है. व्यापार में प्रगति होगी. अगर कोई नया कार्य शुरू करने का मन है तो यह समय अनुकूल परिणाम प्रदान करेगा.

वृषभ राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का यह गोचर आपकी राशि के नौवें भाव में होगा जिसके फलस्वरूप आप कोई यात्रा कर सकते हैं. व्यवसाय में उनकी उन्नति हो सकती है. जीवनसाथी को तरक्की मिल सकती है.

मिथुन राशि पर मंगल गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी राशि के बारहवें भाव में होने जा रहा है, यह समय आपके लिए पूर्ण रूप से लाभ का है. सेहत, परिवार, और धन के मामले में सतर्क रहें.

कर्क राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में सातवें भाव में रहेगा. मंगल का यह गोचर आपको मिला-जुला परिणाम देने वाला है. काम धंधे और संतान के लिए काफी अनुकूल परिणाम मिलेंगे. प्रेम संबंधों के लिए भी समय अच्छा है, लेकिन यदि विवाहित हैं तो आपसी लड़ाई-झगड़े से बचना होगा.

सिंह राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में छठवें भाव में रहेगा. इस अवधि में घरेलू जीवन व वैवाहिक जीवन में भी कुछ असंतोष रह सकता है. प्रतिस्पर्धी कामों के लिए समय अनुकूल रहेगा.

कन्या राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में पांचवें भाव में रहेगा. इस अवधि में कम दूरी की कई यात्राएं करनी पड़ सकती है लेकिन दूर की यात्राओं से बचना बेहतर रहेगा. इस समय प्रेम प्रसंगों में मर्यादा रखें.

तुला राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में चौथे भाव में रहेगा. यह ग्रह परिवर्तन आपके लिए शुभ है. आर्थिक मामलों में बेहतरी आने के योग हैं लेकिन वाणी में आ रहे आक्रोश व घरेलू विसंगतियों को रोकने की कोशिश करें. काम धंधे व जीवन साथी के उत्थान के योग बन रहे हैं.

वृश्चिक राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में तीसरे भाव में रहेगा. स्वाभाविक है आपको अच्छे फल मिलेंगे. आपका उत्साह बेहतर होगा. मान-सम्मान बढ़ने के भी योग हैं लेकिन कुछ मित्र नाराज हो सकते हैं अथवा कोई विरोधी मित्र बनने का प्रयास करेगा.

धनु राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में दूसरे भाव में रहेगा. कुछ खर्चे अचानक सामने आ सकते हैं. इस समय वाणी पर भी बड़ा संयम रखना होगा. परिवार के सदस्यों के कारण भी तनाव सम्भव है. मामला प्रेम सम्बन्ध का हो या पुत्र सम्बन्ध का दोनों रिश्तों को प्यार से निभाएं.

मकर राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में प्रथम भाव में रहेगा. ऐसे में यदि आपने स्वास्थ्य और क्रोध को साध लिया तो बाकी सब ठीक रहेगा. वाहन भी सावधानी से चलाएं. बाकी आपकी मान प्रतिष्ठा बढ़ेगी साथ ही भूमि या भवन खरीदने के योग बनेंगे. साझेदारी के काम में लाभ होगा.

कुंभ राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में बारहवें भाव में रहेगा. अत: इस अवधि में सावधानी की ज़रूरत रहेगी. बेकार के खर्चे रह सकते हैं. इस समय आत्मनिर्भर रहना बहुत ज़रूरी होगा. हालांकि यदि आपका काम विदेश से सम्बंधित है तो उसमें लाभ मिलेगा. छोटी यात्राएँ भी संभावित हैं.

मीन राशि पर मंगल के गोचर का प्रभाव-मंगल का गोचर आपकी कुंडली में ग्यारहवें भाव में रहेगा. अतः आर्थिक मामलों में मजबूती आएगी. मित्रों और सहयोगियों से लाभ मिलेगा. भाग्य साथ देगा. बहु प्रतीक्षित इच्छाओं की पूर्ति होगी. दूर की यात्राएँ भाग्यशाली सिद्ध होंगी. पारिवारिक वातावरण सुखद रहेगा.

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week