उज्जैन| कांग्रेस नेता की दासता पत्नी की हत्या, LPG से जलाकर मारा

19 May 2018

इंदौर। उज्जैन के उदयन मार्ग के समीप वल्लभनगर कॉलोनी में एक महिला की एलपीजी (रसोई गैस) से जलाकर हत्या कर दी गई। इससे पहले घर में काफी संघर्ष हुआ। महिला के शरीर पर चोट एवं नस काटने के निशान भी हैं। जब पुलिस पहुंची तो महिला का शव बिस्तर के नीचे दबा हुआ मिला जबकि धुआं निकल रहा था।महिला पिछले 8 साल से कांग्रेस नेता दिलीप शर्मा ने महिला को दासता पत्नी बनाकर रखा था। वो पिछले 8 साल से दिलीप शर्मा के साथ रह रही थी। दिलीप की पत्नी एवं बच्चे गांव में रहते हैं। पुलिस ने दिलीप शर्मा को हिरासत में ले लिया है। मप्र में एलपीजी गैस से जलाकर हत्या करने का यह पहला मामला है। 

बिस्तर के नीचे जली हुई लाश, नस कटी, दीवार पर खून
35 वर्षीय दीपा वर्मा (शर्मा) का शव घर में जला हुआ मिला था। वह दिलीप उर्फ दीपक शर्मा (44) साल निवासी शंकरपुर पान बिहार के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी। दिलीप खुद को जिला कांग्रेस का पूर्व महामंत्री बता रहा है। सुबह छत पर गए पड़ोसी जितेंद्र पंवार ने दीपा के मकान से धुंआ निकलते देख पुलिस को सूचना दी। पुलिस को किचन में दीपा की बिस्तर और गद्दे के नीचे जली हुई लाश मिली। गैस सिलेंडर की नली भी चूल्हे से निकली हुई थी जिससे गैस रिस रही थी। दीपा 90 प्रतिशत जल चुकी थी। दीवार और दरवाजे पर खून के निशान मिले और हाथ की नस कटी हुई थी। 

PLG से जलाकर मारा गया
शाम को डॉ. एलके तिवारी, डॉ अजय दिवाकर और डॉ. रेखा गोमे के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। डॉ. तिवारी ने ओपिनियन दिया कि महिला को जलाकर मारा है। एफएसएल अधिकारी डॉ. प्रीति गायकवाड़ के अनुसार एलपीजी से जलाकर मारने का यह पहला मामला है। वहीं एसपी सचिन अतुलकर ने कहा कुछ लोगों पर संदेह है। अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। पुलिस ने देर रात हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

पति से तलाक, घूमने आई तब दोस्ती हुई
दीपा वर्मा भैरवगढ़ जेलरोड स्थित ज्ञान टेकरी की रहने वाली थी। परिवार में मां के अलावा दो छोटे भाई हैं। 14 वर्ष की उम्र में देवास के जलालखेड़ी निवासी राकेश वर्मा से शादी हुई थी। तीन बच्चे हैं। पति शराब पीकर मारपीट करता था इसलिए उसे तलाक दे दिया। फ्रीगंज में आठ साल पहले घूमने आई थी तब दिलीप से पहचान हुई थी। 

दीपा को किराए के मकान में रखा
दोनों में दोस्ती बढ़ी और दिलीप शर्मा ने दीपा को अपनी दासता पत्नी बनाकर रख लिया। 18 जनवरी 2018 को दिलीप ने वल्लभनगर में लक्षमणदास पमनानी का मकान किराए से लिया था। तभी से दीपा इस मकान में रह रही थी। दिलीप भी शादीशुदा है और उसका एक बेटा है जो पत्नी के साथ गांव में रहता था। दिलीप यहां दीपा से एक-दो दिन छोड़कर मिलने आता था।

मारपीट करता था दिलीप
महिला की मौत की जानकारी लगते दिलीप मौके पर पहुंचा। जहां से क्राइम ब्रांच उसे पकड़कर पूछताछ के लिए ले गई। पुलिस ने दिलीप और तीन अन्य संदेहियों को भी पूछताछ के लिए पकड़ा है। वहीं दीपा के छोटे भाई मनोज व महेश ने बयान में आरोप लगाया कि दिलीप आए दिन दीदी से मारपीट करता था।

सबूत जो हमला और हत्या की अोर इशारा करते हैं
किचन में दीपा के ऊपर दरी, चादर, मोटी रजाई, तकिया और पायदान पड़ा मिला। इससे लगता है हमला करने के बाद उसके ऊपर ये सब डाले।
दीपा के गले और कलाई पर चाकू जैसी चोट मिली। संभवत: बेहोशी की हालत में उसे जलाया गया।
बेडरूम में बिस्तर और दीवार पर कई जगह खून के छींटे मिले।
चूल्हे और सिलेंडर के नोजल पर कार्बन जमा पाया गया। इससे साबित होता है नली निकालकर आग लगाई।
किचन के पास वाले कमरे की कुंडी भी अंदर से टूटी होने से लगता है महिला ने संघर्ष किया और बचने के लिए अंदर से कुंडी लगा ली, जो हमलावर ने तोड़ दी।
हमला करने वाला कोई परिचित ही है। जो घर की पूरी स्थिति से वाकिफ था। किचन में ले जाकर उसे जलाया।
सबूत मिटाने के लिए महिला का मोबाइल भी जला दिया।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week