ADR PvPI मोबाइल एप यहां से डाउनलोड करें, दवाओं के रिएक्शन की रिपोर्ट करें

20 May 2018

दवाओं के साइड इफेक्ट से शरीर को नुकसान होने के साथ ही जान तक जाने का खतरा रहता है। इसलिए दवाओं के प्रभाव के साथ ही उनके दुष्प्रभाव की जांच भी बेहद जरूरी है। संभव है कि अगर ऐसी दवाएं बाजार में रही तो दूसरे मरीज भी इसके शिकार हो हो सकते हैं। एेसी ही दवाओं की शिकायत के लिए भारत सरकार द्वारा एडीआर रिपोर्टिंग एप लॉन्च किया गया है। सिर्फ एक क्लिक में शिकायत एडवर्ड ड्रग्स रिएक्शन मॉनिटरिंग सेंटर को भेजी जा सकती है। 

सर्दी, खांसी, बुखार, खुजली, अस्थमा या किसी और बीमारी की दवा खाने के बाद भी अगर आप ठीक नहीं हो रहे हैं या फिर दवा खाने के बाद के बाद शरीर पर लाल चकते बन रहे हैं एवं खुजली हो रही है। इस दोनों ही स्थितियों को नजर अंदाज नहीं करें। इलाज के दौरान अगर ये स्थितियां बन रही तो इसका क्या कारण है और दवा में मौजूद किस साल्ट की वजह से ऐसा हो रहा है। 


डॉक्टरों और नर्सिंग कर्मियों को मिले निर्देश 

एडवर्स ड्रग्स रिएक्शन मॉनिटरिंग सेंटर के डॉक्टरों के अनुसार रिएक्शन रिपोर्टिंग करने वाले मरीजों को एक एडीआर कार्ड दिया जाएगा। इसमें मरीज की आवश्यक डिटेल समेत दवा के ब्रांड नाम, जैनरिक नाम, मैन्यूफैक्चिरिंग डेट, बैच नंबर, एक्सपायरी डेट और दवा को यूज करने की दिनांक समेत उस दवा से मरीज को क्या साइड इफेक्ट हुआ जैसी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां दर्ज होगी। इसे मरीज अपने पास रखेगा। ताकि आने वाले समय में यदि वह किसी इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाता है तो उस कार्ड को दिखाए जिससे उसी दवा के सेवन से होले वाले रिएक्शन से उसका बचाव हो सके। 

टोलफ्री नंबर पर भी दे सकते हैं जानकारी

दवा के रिएक्शन की जानकारी तुरंत सेंटर के टोल फ्री 18000 180 3024 पर कॉल कर दे। 

आॅनलाइन शिकायत ऐसे करें

एडीआर रिपोर्टिंग एप को लोड करें। इसे लोड करने के बाद एक फॉर्म ओपन होगा, जिसमें दवा के बारे में जानकारी मांगी जाएगी इसे भरकर भेजा जा सकता है। 
मोबाइल एप डाउनलोड / इंस्टाल करने के लिए यहां क्लिक करें

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week