Advertisement

आत्मा को परलोक पहुंचने में कितना समय लगता है, मौत के बाद जिंदा हो उठे व्यक्ति ने बताया | NATIONAL NEWS


नई दिल्ली। व्यक्ति की मृत्यु के बाद आत्मा को परलोक पहुंचने में कितना समय लगता है। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ निवासी रामकिशोर के प्रकरण को सही मानें तो इसमें 5 घंटे का समय लगता है, क्योंकि मृत्यु के ठीक 5 घंटे बाद रामकिशोर वापस जिंदा हो उठा और अब वह स्वस्थ है। इतना ही नहीं रामकिशोर की मानें तो उसे यह भी याद है कि मृत्यु के बाद उसके साथ क्या क्या हुआ। उसे याद है कि परलोक में दरबाद लगता है और यमदूतों से भी गलतियां हो जातीं हैं। 

दैनिक हिंदी अखबार HINDUSTAN में छपी खबर के मुताबिक अलीगढ़ के अतरौली में किरथल गांव निवासी रामकिशोर का कुछ दिन पहले निधन हो गया था। उनकी हालत एकदम ठीक थी और अचानक हुए इस हादसे से परिवार को गहरा सदमा पहुंचा। रामकिशोर की मौत के बाद रिश्तेदारों को खबर कर दी गई और घर पर लोगों का हुजूम जमा होने लगा।

परिवार वालों ने रामकिशोर के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू कर दी, लेकिन इस दौरान मृतक के शरीर में हलचल देखी गई। इसे देखकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए, तभी अचानक रामकिशोर उठकर बैठ गए और कहा कि अब वह एकदम ठीक हैं, गलती से मुझे ले गए थे, अब वापस भेज दिया।

रामकिशोर सिंह को बोलते देख पूरा माहौल ही बदल गया। पहले जो लोग फूट-फूटकर रो रहे थे अब खुशी और चकित होकर झूमने लगे। आस-पास के इलाके में जिसने भी यह खबर सुनी सीधे रामकिशोर के घर आ पहुंचा। कई लोग मौत के उन 5 घंटों के बारे में जानना चाहते थे और कुछ लोगों को तो इस घटना पर विश्वास ही नहीं हो रहा है। इन दिनों यह घटना इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई हैं

उठकर क्या बोले रामकिशोर
लोगों ने जब रामकिशोर से पूछा कि उन्हें 5 घंटों के बारे में क्या पता है तो उन्होंने कहा कि ज्यादा याद नहीं है लेकिन जहां गया था वहा एक बैठक चल रही थी और कुछ दाढ़ी वाले महात्मा अपने प्रमुख से बारी-बारी बातें कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस दौरान सबसे बुजुर्ग महात्मा ने उनके बारे में कई सवाल किए और पूछा कि इसे क्यों लाए हो, इसे ले जाओ, अभी समय है। रामकिशन ने बताया कि इसके तुरंत बाद उन्हें एक धक्का सा लगा और जब आंखें खुली तो घर पर रोते-बिलखते परिवार वालों को देखा।