यदि खाली कुर्सी वोटिंग हो जाए तो शिवराज सरकार गिर जाएगी: सर्वे रिपोर्ट | MP NEWS

02 April 2018

भोपाल। हालांकि विधायकों के लिए यह व्यवस्था नहीं है परंतु यदि ऐसा होता और आज की तारीख में खाली कुर्सी भरी कुर्सी के बीच वोटिंग करा दी जाए तो शिवराज सिंह सरकार का गिरना तय है। यह दावा कर रही है एक नई सर्वे रिपोर्ट। यह सर्वे भाजपा ने ही कराया है। सर्वे एक प्राइवेट ऐजेंसी द्वारा संपादित किया गया है। भाजपा के पास फिलहाल 166 विधायक हैं और सर्वे रिपोर्ट के अनुसार 77 विधायक डेंजर जोन में हैं। यदि आज वोटिंग करा दी जाए तो ये 60 विधायक हार जाएंगे। ऐसी स्थिति में भाजपा के पास मात्र 89 विधायक रह जाएंगे और सरकार गिर जाएगी। माना जा रहा है कि भाजपा ने विधायकों को वापस टिकट देने से पहले यह अध्ययन कराया है ताकि वो आगामी रणनीति बना सके। 

शिवराज का विरोध नहीं, विधायकों से नाराज: सर्वे रिपोर्ट
सूत्रों के मुताबिक भाजपा ने हाल ही में दिल्ली की एक संस्था से सर्वे करवाया था। अपेक्स नाम की इस संस्था के सर्वे में भाजपा के कई विधायकों की हालत पतली है। सर्वे में सरकार के खिलाफ एंटीइनकमबेंसी की बात तो सामने नहीं आई पर कई विधायकों से स्थानीय स्तर पर जनता बेहद नाराज है। सर्वे में यह भी सामने आया है कि कई विधायकों के क्षेत्र पर पर्याप्त ध्यान न देने से इस बार उनका हारना तय है। सर्वे में इन विधायकों के टिकट काटने की भी सलाह दी गई है। 

भाजपा नेता की ही है सर्वे करने वाली संस्था
यह भी महत्वपूर्ण है कि जिस संस्था ने यह सर्वे कराया गया है वह भाजपा के ही एक बड़े नेता से जुड़ी है। संघ से भाजपा में आए यह नेता इन दिनों राष्ट्रीय पदाधिकारी भी हैं। यह संस्था पहले भी भाजपा के लिए काम कर चुकी है।

विंध्य और बुंदेलखंड में कांग्रेस मजबूत हुई है
सर्वे में विंध्य और बुंदेलखंड में भाजपा के मौजूदा विधायकों में से 70 फीसदी की स्थिति अच्छी नहीं बताई गई है। इसके पीछे इस क्षेत्र में नेताओं का आपसी टकराव भी वजह बताया गया है। इसके अलावा कुछ विधायकों के क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस का प्रभाव बढ़ने की बात कही गई है। 

ग्वालियर-चंबल में 60 प्रतिशत विधायक डेंजर जोन में
ग्वालियर-चंबल में भी साठ फीसदी विधायकों को डेंजर जोन में बताया गया है। मालवा के इंदौर और आसपास के जिलों में भाजपा की स्थिति मजबूत बताई गई है। महाकोशल में भी अधिकांश सीटों पर भाजपा पहले जैसी स्थिति में है। वहीं मंदसौर और नीमच, झाबुआ और अलीराजपुर जैसे जिलों में इस बार सीटें कम होने की संभावना जताई गई है।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->