पति की तरक्की चाहिए तो पत्नी करे यह उपाय | JYOTISH

24 April 2018

जन्मपत्रिका में मनुष्य के भविष्य के संकेत छिपे होते हैं। ज्योतिष के शास्त्रों में समस्याओं के समाधान भी वर्णित हैं। यदि आप किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से संपर्क करें तो आपको निश्चित रूप से अच्छा मार्गदर्शन मिलेगा परंतु कभी कभी ऐसा भी होता है कि चमत्कारी रत्न भी काम नहीं करते। देश में कई लोग ऐसे भी हैं जिनके पास अपनी जन्मपत्रिका ही नहीं है। ऐसे लोग अक्सर कर्ज के जाल में फंस जाते हैं। योग्यता के बाद भी तरक्की नहीं मिलती। कारोबार अच्छा नहीं चलता। यदि ऐसा कुछ है और पति की तरक्की चाहिए तो पत्नी को एक उपाय करना होगा। शास्त्रों में पत्नी को पति का आधा अंग बताया गया है, इसीलिए पत्नी को अद्धांगिनी कहा जाता है। पत्नी पूजा-पाठ करती है तो उसका पुण्य उसके पति को भी मिलता है। ज्योतिष में कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं जो स्त्री करती है तो उसके पति का दुर्भाग्य दूर हो सकता है। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार एक ऐसा उपाय जो महिला को करना है, जिससे उसके पति को भाग्य का साथ मिल सकता है।

स्त्रियां होती हैं लक्ष्मी का स्वरूप
महालक्ष्मी की कृपा के बिना पैसों से जुड़ा कोई भी काम ठीक से पूरा नहीं हो सकता है। जिन लोगों पर देवी मां की कृपा बनी रहती हैं, वे जीवन में धन की कमी का सामना नहीं करते हैं। मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए कई प्रकार के उपाय बताए हैं। इन्हीं उपायों में से एक उपाय ऐसा है जो स्त्रियों को करना चाहिए। शास्त्रों में स्त्रियों को महालक्ष्मी का रूप माना जाता है। इसलिए जब महिला कोई पूजा-पाठ करती है तो उसका फल पति के साथ ही पूरे परिवार को मिलता है।

ये है उपाय की विधि
उपाय के अनुसार महिला को सुबह जल्दी उठना है। उठते ही सबसे पहले अपनी दोनों हथेलियां देखें और जमीन पर पैर रखते समय धरती माता से क्षमा मांगे। पूरे घर की सफाई करें। स्नान आदि कर्म करने के बाद साफ वस्त्र पहनें और घर के मंदिर में पूजा करें। पूजा में तांबे के लोटे में पानी भरकर भी रखें। पूजा के बाद उस लोटे में भरा जल अशोक के पत्तों से घर के मुख्य द्वार पर और पूरे घर में जल छिड़कना है। इसके बाद तुलसी में एक लोटा जल चढ़ाएं। भगवान से परेशानियां दूर करने की प्रार्थना करें।

इस उपाय से मिलते हैं ये फल
ऐसा माना जाता है कि सुबह-सुबह महालक्ष्मी पृथ्वी भ्रमण पर निकलती हैं। इस दौरान जिन घरों में साफ-सफाई और पवित्रता का पूरा ध्यान रखा जाता है, वहां लक्ष्मी निवास करती हैं। तांबे के लौटे से पानी छिड़कने से घर के आसपास का वातावरण पवित्र हो जाता है। नकारात्मकता नष्ट हो जाती है। जब घर का वातावरण पवित्र हो जाएगा तो सभी देवी-देवताओं की विशेष कृपा हम पर और हमारे परिवार पर होने लगेगी। घर में ही सुख-समृद्धि बढ़ सकती है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week