IIT के 50 दलित छात्रों ने नौकरी छोड़कर बनाई BAP पार्टी | NATIONAL NEWS

Sunday, April 22, 2018

नई दिल्ली। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) से पढ़कर स्टूडेंट्स विश्व की बड़ी कंपनियों में काम करने का ख्वाब देखते हैं, लेकिन देशभर की अलग-अलग IIT से पढ़े 50 पूर्व छात्रों ने समाज के पिछड़े वर्गों के लिए नौकरी छोड़ पॉलिटिकल पार्टी का गठन किया है। इसका नाम रखा गया है बहुजन आजाद पार्टी यानि BAP, इन स्टूडेंट्स ने अनुसूचित जाति-जनजाति (SC-ST) और अन्य अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के अधिकारों की लड़ाई लड़ने के लिए पार्टी बनाई है।

चुनाव आयोग की मंजूरी का इंतजार कर रहे इस ग्रुप ने अपने राजनीतिक संगठन का नाम बहुजन आजाद पार्टी (BAP) रखा है। इस समूह का नेतृत्व 3 साल पहले IIT - दिल्ली से स्नातक की पढ़ाई पूरी कर चुके नवीन कुमार कर रहे हैं। उन्होंने बताया , 'हम 50 लोगों का एक ग्रुप है। सभी अलग - अलग IIT से हैं , जिन्होंने पार्टी के लिए काम करने की खातिर अपनी पूर्णकालिक नौकरियां छोड़ी हैं। हमने मंजूरी के लिए चुनाव आयोग में अर्जी डाली है और इस बीच जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।' 

पार्टी के सदस्य आनन-फानन में चुनावी मैदान में नहीं कूदना चाहते। उन्होंने कहा कि उनका मकसद 2019 के लोकसभा चुनाव लड़ना नहीं है। कुमार ने कहा , ' हम जल्दबाजी में कोई काम नहीं करना चाहते और हम बड़ी महत्वाकांक्षा वाला छोटा संगठन बनकर रह जाना नहीं चाहते। हम 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव से शुरुआत करेंगे और फिर अगले लोकसभा चुनाव का लक्ष्य तय करेंगे।' 

इस संगठन के सदस्यों मुख्य रूप से SC , ST और OBC वर्ग से हैं जिनका मानना है कि पिछड़े वर्गों को शिक्षा एवं रोजगार के मामले में उनका वाजिब हक नहीं मिला है। पार्टी ने भीमराव आंबेडकर , सुभाष चंद्र बोस और एपीजे अब्दुल कलाम सहित कई अन्य नेताओं की तस्वीरें लगाकर सोशल मीडिया में प्रचार शुरू कर दिया है। कुमार ने कहा , 'एक बार पंजीकरण करा लेने के बाद हम पार्टी की छोटी इकाइयां बनाएंगे जो हमारे लक्षित समूहों के लिए जमीनी स्तर पर काम करना शुरू करेगी। हम खुद को किसी राजनीतिक पार्टी या विचारधारा की प्रतिद्वंद्वी के तौर पर पेश नहीं करना चाहते।' 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah