LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





उपद्रवियों ने हमला कर दिया था, खदेड़ने के लिए फायर किए: महेन्द्र चौहान | GWALIOR NEWS

09 April 2018

ग्वालियर। भारत बंद में हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें एक युवक फायर कर रहा है। पुलिस की तलाश में पता चला कि यह वीडियो द्वारिकाधीश मंदिर थाटीपुर के सामने का है। फायरिंग करने वाले युवक की पहचान महेंद्र सिंह चौहान के रूप में हुई। महेन्द्र ने पुलिस को बताया कि उपद्रवियों ने उस पर हमला कर दिया था। आत्मरक्षा में उसने लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग की। महेंद्र ने बताया कि उसकी टूटी हुई जीप और सीसीटीवी कैमरा अभी भी वैसे ही हैं। महेंद्र का कहना है कि लाइसेंस आत्मरक्षा के लिए ही दिया गया था और आत्मरक्षा के लिए ही हथियार का उपयोग किया गया। इसमें कुछ भी गैरकानूनी नहीं है। 

पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद महेंद्र चौहान ने बताया कि उपद्रवियों ने पहले उसकी बोलेरो की तोड़फोड़ की, उसके बाद मेडिकल की दुकान पर लगा सीसीटीवी कैमरा भी तोड़ दिया। अपने बचाव में उसने लाइसेंसी बंदूक से पहला फायर हवा में किया, जबकि दूसरा फायर उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए सड़क पर किया, ताकि उपद्रवी भाग जाएं। पड़ाव थाना पुलिस ने बस स्टैंड के पास तोड़फोड़ करने के आरोप में मेहरा गांव के एक नाबालिग को भी पकड़ा है। आरोपित के पिता नेहरू युवा केंद्र में कार्यरत हैं।

एससी-एसटी वर्ग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर आक्रोश जताने के लिए दो अप्रैल को भारत बंद का आह्वान किया था। इस दौरान उपद्रवियों ने शहर में न केवल तोड़फोड़ की बल्कि कई वाहनों में आग भी लगा दी। साथ ही राह चलते लोगों को पीटा और महिलाओं व युवतियों के साथ भी अभद्रता की थी। उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए लोगों को फायरिंग करनी पड़ी, जिससे सड़कों पर वर्ग संघर्ष शुरू हो गया। जिसमें दो युवकों की जान चली गई।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था वीडियो
दो अप्रैल को बंद के दौरान हुए संघर्ष के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें एक युवक सिर पर साफी बांधकर रायफल से फायर करते हुए नजर आ रहा था। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो से सबसे पहले पुलिस ने इस बात की तस्दीक की कि ये वीडियो कहां का है। पड़ताल में पुलिस को पता चला कि इस युवक ने द्वारिकाधीश मंदिर (थाटीपुर) से फायरिंग की है। पुलिस ने उस स्थान को भी चिन्हित किया जहां से ये वीडियो बनाया गया था। उसके बाद फायरिंग करने वाले युवक की पहचान महेंद्र चौहान के रूप में हुई।

फायरिंग करने वाला युवक मेडिकल संचालक
महेंद्र सिंह चौहान की थाटीपुर में शिवान नाम से मेडिकल की दुकान है। उसने बी-फार्मा किया है और उसकी शादी भी हो चुकी है। उसके पास लाइसेंसी हथियार है। थाटीपुर थाने के टीआई रविंद्र सिंह गुर्जर ने बताया कि महेंद्र सिंह चौहान को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी ने उपद्रवियों पर फायरिंग करने की बात भी कबूल कर ली है।

बस स्टैंड के आसपास तोड़फोड़ करने वाले नाबालिग को पकड़ा
बंद के दौरान बस स्टैंड के पास तोड़फोड़ करने वाले एक नाबालिग को भी पुलिस ने पकड़ा है। आरोपित मेहरा कॉलोनी का निवासी है और 11वीं का छात्र है। नाबालिग के पिता नेहरू युवा केंद्र में कार्यरत हैं। आरोपित किशोर को बस स्टैंड के पास जिस होटल में तोड़फोड़ करने के आरोप में पकड़ा है। उसी में वह नौकरी भी करता है। पड़ाव थाने के टीआई संतोष सिंह ने बताया कि आरोपित नाबालिग की पहचान वीडियो व सीसीटीवी फुटेज से हुई है। इसके अलावा पुलिस ने शनिवार को मेहरा कॉलोनी निवासी राजू को पकड़ा था। उसने भी मोहल्ले के 14 लोगों के नाम गिनाए थे। उस सूची में इस नाबालिग का नाम भी था। नाबालिग का कहना है कि उसे नहीं पता कि दो अप्रैल को भारत किस लिए बंद था। वह तो मोहल्ले के लोगों के साथ बाजार बंद कराने के लिए निकल आया था। पुलिस अन्य उपद्रवियों की भी तलाश कर रही है।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->