RSS ने कराई थी शादी, अब राज्य मंत्री पति परेशान करता है | NATIONAL NEWS

Saturday, March 31, 2018

भोपाल। दाम्पत्य जीवन में तनाव अब आम बात हो गई है लेकिन आज एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है जो विवाह संस्कार को मान्यता देने वालों पर उंगली उठा रहा है। पीड़िता पत्नी का नाम भार्गवी जोशी है। जो राष्ट्रीय सेविका समिति में पूर्णकालिक हैं। आरएसएस के सरसंघचालक स्व. के.सी. सुदर्शन ने उनका विवाह सुसनेर के तत्कालीन विधायक संतोष जोशी से कराया था। भाजपा नेता संतोष जोशी इन दिनों मध्यप्रदेश गोपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष संतोष जोशी हैं। पीड़िता भार्गवी जोशी नेकोर्ट में पिटिशन दायर किया है जिसमें उन्होंने बताया है कि उन्हे संतान नहीं हुई इसलिए उनके पति ने परेशान करना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं तलाक के लिए गुंडों के जरिए से धमकी भी दी गई। साथ ही बताया उनके पति ने दूसरी शादी कर ली है। अब वे तलाक के लिए वे लगातार दबाव बना रहे हैं।

सरसंघचालक स्व. के.सी. सुदर्शन ने किया था भार्गवी का कन्यादान
रतलाम की रहने वाली भार्गवी आरएसएस की राष्ट्रीय सेविका समिति में पूर्णकालिक हैं। 15 जून 2012 को भोपाल के विधायक विश्राम गृह में भार्गवी की शादी सुसनेर इलाके के तत्कालीन विधायक संतोष जोशी के साथ हुई थी। इसमें संघ पदाधिकारियों से लेकर भाजपा सरकार के कई मंत्री भी शामिल हुए थे। आरएसएस के तत्कालीन सरसंघचालक स्व. के.सी. सुदर्शन ने कन्यादान किया था।

एक ही मकान में अलग-अलग रहने लगे दोनों
शादी के बाद से भार्गवी अपने पति के साथ आगर जिले के नलखेड़ा रह रही हैं। पिछले कुछ दिनों से दोनों के बीच मनमुटाव शुरू हुआ। अप्रैल 2017 से इतना विवाद बढ़ गया कि पति-पत्नी एक ही मकान में अलग-अलग रहने लगे। संतोष मकान के निचले हिस्से में शिफ्ट हो गए।

तीन महीने पहले दिसंबर 2017 में नलखेड़ा के मां बगुलामुखी माता मंदिर शिखर दर्शन के दौरान हादसे और इसके बाद भार्गवी जोशी पर हुए हमले की घटना के बाद जोशी आनन-फानन अपना मकान खाली कर किराए के मकान में रहने चले गए। अभी जोशी किराए के मकान में अलग रहते हैं, जबकि भार्गवी अपने घर पर ही ऊपरी हिस्से में मां के साथ रहती है। नीचे का हिस्सा फिलहाल खाली है।

भार्गवी ने कहा- मुझे वरिष्ठों पर पूरा भरोसा
भार्गवी के घर पर उनसे बात करना चाही तो उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने सिर्फ इतना कहा मुझे मेरे वरिष्ठों पर पूरा भरोसा है। वरिष्ठों ने ही मुझे अंगुली पकड़कर चलना सिखाया है। आगे के जीवन का फैसला भी वरिष्ठों के ऊपर ही है। भार्गवी मुख्यमंत्री शिवराज को भी पत्र भेजकर अपनी पीड़ा बता चुकी हैं।

जोशी ने कहा- पारिवारिक मामला है, फिलहाल दूसरी शादी नहीं की
संतोष जोशी से जब भार्गवी द्वारा कोर्ट में पेश पिटिशन और आरोपों के बारे में पूछा तो उन्होंने हंसते हुए कहा यह पारिवारिक मामला है। सब चलता है। मैंने भी पहले तलाक के लिए सुसनेर कोर्ट में आवेदन लगाया था। इसमें समझौता होने वाला है। इस मामले में भी समझौता हो जाएगा। रही बात दूसरी शादी की तो फिलहाल मैंने शादी नहीं की है, लेकिन यदि तलाक हो जाता है तो दूसरी शादी भी करेंगे ही सही।

पिटिशन में कहा- दूसरी शादी कर ली है, तलाक के लिए दबाव बना रहे
भार्गवी की लगाई पिटिशन के मुताबिक, शादी के बाद 2014 तक उनका(संतोष जोशी) का बर्ताव ठीक रहा, लेकिन 2015 से वे परेशान करने लगे। संतान नहीं होने पर शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ना शुरू कर दी और धमकी देने लगे कि दूसरी शादी कर लूंगा। 22 अप्रैल 2017 को उन्होंने मुझसे कहा कि मैं नलखेड़ा की एक महिला से शादी कर रहा हूं और तलाक दे रहा हूं। मैंने मना किया तो मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी।

थाने में शिकायत दर्ज कराई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई
भार्गवी के मुताबिक, मैंने यह बात संगठन के लोगों को भी बताई। वरिष्ठों ने सुलह की कोशिश भी की, लेकिन वे तलाक पर अड़े रहे। धमकी देकर कोरे कागज पर हस्ताक्षर भी करवा लिए। मैंने 3 अक्टूबर 2017 को थाने में शिकायत दर्ज कराई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

दी जा रही जान से मारने की धमकी
भार्गवी ने आगे बताया कि 12 दिसंबर को मैं बगलामुखी माता के दर्शन करने गई थी। गांव का एक व्यक्ति आया और कहा कि संतोष जोशी ने मेरी बहन से शादी कर ली है। तुम तलाक दे दो। मना किया तो उस व्यक्ति ने धमकी दी कि मैंने पहले भी मर्डर किए हैं। नहीं मानी तो हाथ-पैर तोड़कर जमीन में गाड़ दूंगा। उस व्यक्ति ने मेरे साथ मारपीट की। मुझे जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है।

भार्गवी ने 50 हजार रुपए महीना मेंटनेंस की मांग
नलखेड़ा कोर्ट में पेश भार्गवी की पिटिशन पर 26 मार्च को सुनवाई होना थी, लेकिन इस दिन जोशी मौजूद नहीं हुए। वकील के जरिए से उन्होंने कुछ समय मांगा है। अब अगली सुनवाई 19 अप्रैल को होना है। भार्गवी ने सुरक्षा की मांग करते हुए भरण-पोषण के ताैर पर 50 हजार रुपए महीना और रहने के लिए मकान दिलाने की गुहार भी लगाई है। उनका कहना है कि संतोष जोशी की विभिन्न स्रोतों से हर महीने की आमदनी चार से पांच लाख रुपए है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week