पढ़िए क्या खास है BJP के नए हेडक्वार्टर में, कितना हाईटेक है यह आॅफिस | NATIONAL NEWS

18 February 2018

नयी दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को भाजपा के मुख्‍यालय का उद्घाटन किया. मोदी ने ही इस भवन का शिलान्‍यास 2016 में किया था. सुप्रीम कोर्ट के लुटियान जोन से सभी पार्टियों के कार्यालय हटाने के निर्देश के बाद भाजपा पहली बड़ी पार्टी है जिसने लुटियान जोन के बाहर अपना अत्‍याधुनिक मुख्‍यालय बनाया है. भाजपा का नया मुख्‍यालय कई मायनों में हाई-टेक है.  करीब आठ हजार वर्गमीटर या लगभग एक लाख 70 हजार वर्गफिट क्षेत्र में फैले भाजपा मुख्यालय में तीन ब्लॉक हैं. इस इमारत का शिलान्यास मोदी ने 18 अगस्त 2016 को रक्षा बंधन के अवसर पर किया था. मुख्यालय को सभी प्रकार की अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से लैस किया गया है. मुख्यालय का 70 प्रतिशत हिस्सा हरित क्षेत्र है.  

हरित क्षेत्र में विभिन्‍न प्रकार के दुर्लभ पेड़ लगाये गये हैं. भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा कि इस उद्यान में देशभर के लाकर कई प्रकार के पौधे लगाये गये हैं. कैंपस के अंदर तीन उद्यान है जो हरा-भरा है. पर्यावरण संरक्षण को ध्‍यान में रखते हुए परिसर को पूरी तरह बायो फ्रेंडली बनाया गया है. वाटर हार्वेस्टिंग सिस्‍टम से लेकर इमारत में बिजली के लिए सोलर प्‍लेटों का इस्‍तेमाल किया गया है. 

पूरे परिसर में वाई-फाई सुविधा दी गयी है. दो बड़े कॉन्‍फेंस हॉल हैं जहां एक साथ 500 से 600 लोग बैठ सकते हैं. यहां डिजिटल लाइब्रेरी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग तक की सुविधा उपलब्‍ध करायी गयी है. बेसमेंट में दो फ्लोर की पार्किंग व्यवस्था की गयी है, जिसमें एक साथ कम से कम 400 वाहन खड़े किये जा सकते हैं. 

2 एकड़ जमीन में फैले परिसर में मौजूद इमारत में कई रूम और ऑफिस बनाये गये हैं. मुख्‍यालय में कई बायो टॉयलेट भी बनाये गये हैं. इस कार्यालय के अंदर 19 विभाग और 11 प्रकल्‍प बनाये गये हैं. पार्टी के कामों को 19 विभागों में बांटा गया है. हर जिले में 19 विभाग बनाये गये हैं. सभी का संचालन यहीं से होगा. 

नया भवन भाजपा के चुनाव चिह्न 'कमल' की थीम पर बनी है. परिसर में कमल की थीम वाला एक तालाब भी बनाया गया है. नये मुख्यालय के परिसर में लाल रंग की तीन इमारतें बनायी गयी हैं. पार्टी के अधिकारियों, सचिवों और कार्यकर्ताओं के लिए कमरे बनाये गये हैं, ताकि सब आपस में समन्वय बनाकर अच्छे से काम कर सकें. साथ ही एक वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग स्टूडियो भी बनाया गया है ताकि नेता वहीं से टीवी डिबेट में हिस्सा ले सकें.

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts