BHOPAL में NMC बिल का विरोध, मेडीकल स्टूडेंट्स सड़कों पर | MP NEWS

24 February 2018

भोपाल। 24 फरवरी को फोर्डा इंडिया ने एनएमसी बिल के विरोध मे गाँधी मैडिकल कॉलेज मे प्रदर्शन किया। इसमें गांधी मेडिकल कालेज के करीब 150 जूनियर डॉक्टरों ने प्रदर्शन कर बिल पर आपत्ति दर्ज कराई। फोर्डा के अध्यक्ष एवं ऑल इंडिया मैडिकल स्टूडेंट संगठन के रास्ट्रीय सलाहकार डॉ विवेक चौकसे ने बताया ये बिल असम्बेधानिक, गरीब विरोधी , भ्रष्टाचार को बढावा देगा।इस बिल से स्वास्थ्य सेवायें प्रभावित होंगी एवं गरीब अपने बच्चो को कभी चिकित्सक नही बना पायेंगे। मुख्य बिन्दु जिसे लेकर सर्वाधिक विरोध किया जा रहा है -

1- ब्रिज कोर्स जिससे आयुर्वेद एवं होम्योपैथी एवं ऐलोपैथी सभी पद्धति को सरकार नष्ट कर रही है। 
2- एग्जिट एग्जाम जिससे देश मे डॉक्टर्स की कमी होगी एवं जो 5 साल मे 5 परीक्षा देता है उसके बाद एक ओर परीक्षा देना होगा एवं जो इसमे पास नही होगा वह प्रेक्टिस नही कर सकता और यदि पास होने के बाद भी अच्छी ब्रांच नही मिल पाती तो उसका पूरा साल बेकार हो जायेगा।जबकी किसी और प्रोफेशन मे एसा नही होता।
3-पहले प्राइवेट मैडिकल कॉलेज मे 15% सीट का मैनेजमेंट कोटा था जो बढाकर 40% कर दिया है। इससे गरीब बच्चे कभी डॉक्टर्स नही बन पायेंगे, भ्रष्टाचार भी बढेगा और प्रायवेट कॉलेज अपनी मन मर्जी से फीस वढायेंगे जिसमें कई लाख करोड का घोटाला होगा।

4- देश के अलग अलग हिस्सों में अलग सेलरी है जबकी परीक्षा एक है, कोर्स एक है, सेवायें एक जेसी है । देश के सभी राज्यों मे एक जैसी सैलरी होनी चाहिए अर्थात वन नेशन वन पे
5-पूरे देश मे सेंट्रल रेसीडेंसी स्कीम लागू हो। जिसमे सभी डॉक्टर्स को रिस्क एलाउंस मिलना चाहिए, free immunization हो, एकडमिक लीव मिलनी चाहिये, सीनियर रेसीडेंट की उम्र 40 होनी चाहिये, कांफ्रेस एलाउंस, बुक एलाउंस, थीसिस एलाउंस मिलना चाहिए और लीव इंकेसमेंट मिलना चाहिए।  

6- इंटरनशिप का स्टाइफंड बढना चाहिये एवं उनसे बाबू का काम ना कराया जाये बल्कि उन्हे चिकित्सा सिखाई जाए । पार्लियामेन्ट स्टेंडिंग कमेटी ने 27 फरवरी को फोर्डा के अध्यक्ष डॉ. विवेक चौकसे को अपनी मांगो के साथ बुलाया है वे कमेटी के समक्ष अपनी मांगो को रखेंगे। इसके बाद भी सरकार मांगे नही मानती है तो फोर्डा पूरे देश मे विरोध प्रदर्शन कर बिल का विरोध करेगा। फोर्डा अध्यक्ष विवेक चौकसे ने चेतावनी दी है कि जरुरत पड़ी तो पूरे देश मे स्वास्थ्य सेवायें बंद कर दी जायेगी।

जुडा के अध्यक्ष डां सचेत सक्सेना ने बताया की सरकार पूरे देश की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड कर रही है। इसे बर्दाश्त नही किया जायेगा। देश के सभी वर्ग के लोगों को इस बिल के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। ऑल इंडिया मैडिकल स्टूडेंट संगठन के अध्यक्ष डॉ जितेन्द्र राजावत ने बताया की सरकार नही जागी तो उसे जगाने के लिये देशव्यापी हड़ताल की जायेगी। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts