मप्र के एक गांव में कुछ इस तरह स्कूल जाते हैं बच्चे | ANUPPUR NEWS

26 February 2018

अनूपपुर। मुख्यालय समीप स्थित हरद रेल्वे स्टेशन में हजारों की संख्या में नन्हें-मुन्हें छोटे बच्चे, बुजर्ग, महिलाएं प्रतिदिन अपनी यात्रा की शुरूआत जान का जोखिम लेकर शुरू करते हैं। यहां प्लेटफार्म एक से दो में आने के लिये ओवर ब्रिज बना है लेकिन प्लेटफार्म संख्या दो से बाहर की ओर आने के लिये कोई भी ओवर ब्रिज नहीें बनाया गया जहां से रोजाना सैकडों यात्रियों ट्रेन के नीचे से होकर आना पडता है। स्कूली बच्चों के लिए भी यही मुख्य मार्ग है। 

कहीं हो न जाये मौत 
हरद रेल्वे स्टेशन मेंं रोजाना हजारों यात्री अपनी यात्रा की शुरूआत करते हैं लेकिन रेल्वे स्टेशन में ओवर ब्रिज न होने के कारण रेल्वे स्टेशन में आने के लिए यात्रियों को ट्रेन के नीचे से निकलकर आना पडता है। जिससे खतरे का अंदेशा हर दिन बना रहता है। कभी कभार तो उन्हें चोट भी लग जाती है लेकिन अब करें भी तो क्या करें। 

हरद रेलवे स्टेशन के मास्टर को कई बार बताया गया लेकिन उनके द्वारा आज तक कोई कदम नहीं उठाए गए बल्कि उनसे किसी बारे में चर्चा की जाती है तो वह चिल्लाकर वहां से जाने को कहते हैं। हरद रेलवे स्टेशन के दो-तीन प्लेटफार्म से बाहर की ओर ओवर ब्रिज बनाये जाने की रविवार को अखिल भारतीय पिछड़ा वर्ग महासभा के जिलाध्यक्ष अजय नामदेव के द्वारा डीआरएम के नाम स्टेशन प्रबंधक को ज्ञापन सौपा गया। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts