पुलिस भर्ती विज्ञापन से भड़के अभ्यर्थी सड़कों पर उतरे, एक नदी में कूदा | NATIONAL NEWS

17 January 2018

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार (YOGI ADITYANATH GOVERNMENT) द्वारा पुलिस विभाग में नई भर्ती प्रकिया (UP POLICE RECRUITMENT) शुरू करने के बाद अखिलेश यादव सरकार में पास हुए 36 हजार पुलिस अभ्यर्थी (POLICE CANDIDATE) सड़कों पर आ गए हैं। वर्ष 2015-16 में सिपाही भर्ती नियमावली बदलाव के बाद भर्ती प्रक्रिया में अभी तक परिणाम घोषित न होने और नई भर्ती प्रकिया शुरू होने को लेकर अभ्यार्थी लखनऊ में प्रदर्शन (PROTEST) कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान एक अभ्यर्थी गोमती में छलांग लगा दी जिसके बाद अभ्यर्थियों में हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद साथियों ने किसी तरह से उसको बाहर निकाला। प्रदर्शन के दौरान ही कई बेहोश भी हो गए।

सरकार ने जारी किया नया विज्ञापन
उधर यूपी पुलिस में 41,520 सिपाहियों की भर्ती के लिए विज्ञापन (ADVERTISEMENT) जारी कर दिया गया है। ONLINE APPLICATION 22 जनवरी से 22 फरवरी तक मांगे गए हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड के अध्यक्ष जीपी शर्मा ने बताया कि 23,520 नागरिक पुलिस और 18000 पीएसी आरक्षी की सीधी भर्ती होगी। खिलाड़ी कोटे से होने वाली 480 पदों पर भर्ती प्रक्रिया अभी शुरू नहीं होगी। इस भर्ती का नाम सिपाहियों की सीधी भर्ती-2018 दिया गया है। नागरिक पुलिस में महिलाओं के लिए 4704 पद आरक्षित हैं।

राजधानी में जुटे हजारों अभ्यर्थी
हजारों की तादाद में चारबाग पहुंचे आक्रोशित अभ्यर्थी विधानसभा का घेराव करने आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन मौके पर मौजूद भारी पुलिस बल ने स्टेशन पर नाकाबंदी लगा दी है। इस स्थिति में प्रशासन की कार्रवाई से नाराज अभ्यार्थी कभी भी उग्र हो सकते हैं।

मौके पर पुलिस बल तैनात
अभ्यर्थी उग्र हो इसके पहले उन्हें रोकने का पुलिस ने पूरा बंदोबस्त कर लिया है। मौके पर भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है। पुलिसबल चारबाग से विधानसभा तक चप्पे-चप्पे पर नज़र बनाए हुए है। दरअसल, वर्ष 15-16 में सपा सरकार में पुलिस विभाग में भर्ती के दौरान 36 हजार पुलिस अभ्यार्थी को हाईस्कूल, इण्टरमीडियट एवं शारीरिक परीक्षण कर चयनित किया गया था। भर्ती प्रकिया पर पक्षपात के आरोप लगने पर चयनित अभ्यार्थियों की नियुक्ति अभी तक घोषित न होने और नई भर्ती चालू होने पर इनमे आक्रोश है। प्रदर्शन चल रहा है।
  
गोमती में कूदा अभ्यर्थी
लक्ष्मण मेला मैदान में प्रदर्शन के दौरान अभियुक्त ने गोमती मे कूदकर जान देनी की कोशिश की, लेकिन मौके पर मौजूद सहयोगियों ने उसको किसी तरह से बचा लिया। कई गश खा कर बेहोश हुए तो कई जान देने की कोशिश में लगे रहे। यूपी के अधिकतर जिलों से इक्टठा हुए लोगों ने आर-पार की लड़ाई की बात की है। 

यूपी सरकार पर लगाया आरोप
लक्ष्मण मेला मैदान मे प्रदर्शन के दौरान अभ्यार्थी बीरबहादुर सिंह ने पुलिस भर्ती जिंदाबाद के नारे लगाते हुए यूपी सरकार पर दोहरी नीति अपनाने की बात कही। सरकार को पहले वर्ष 15-16 के आधार पर भर्ती करनी चाहिए थी न की पुलिस भर्ती के लिए नई विज्ञाप्ति जारी करनी चाहिए। जनवरी 17 व अक्टूबर 17 मे हाईकोर्ट द्वारा निर्णय सुरक्षित होने पर भी रिजल्ट जारी नही किया गया। नई बस्ती के मनोज कुमार के मुताबिक आज आखिरी धरना है। आज आरपार की लड़ाई होगी या तो नियुक्ति करगें या आत्म हत्या। 

मैदान में एम्बुलेंस की व्यावस्था नहीं 
मैदान में प्रदर्शन कर रहे अभ्यार्थियों में से कई गश खाकर गिर गए। इस पर लोगों ने सरकार पर गुस्सा जाहिर करते हुए नारेबाजी और आत्मदाह की चेतावनी दे रहे हैं। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week