चरित्रहीन बाबाओं से BJP नेता क्या ओर कौन सा आशीर्वाद लेते हैं: कांग्रेस

Thursday, September 21, 2017

भोपाल। गुरूपूर्णिमा के दिन अपनी शिष्या का रेप करने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर राजस्थान अलवर के जगतगुरु रामानुजाचार्य कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी फलहारी बाबा को आरोपी बनाया है। इससे पहले भी आधा दर्जन से ज्यादा राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त बाबाओं पर रेप केस फाइल हो चुके हैं। राम रहीम को सजा भी सुनाई जा चुकी है। आसाराम अब भी जेल में हैं। मप्र कांग्रेस कमेटी ने फलहारी बाबा और भाजपा के दिग्गज नेताओं के संपर्क का खुलासा करते हुए आरएसएस चीफ मोहन भागवत से सवाल किया है कि 'चरित्रहीन बाबाओं से भाजपा नेता क्या ओर कौन सा आशीर्वाद लेते हैं।'

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा ने बलात्कार एवं यौनाचार के आरोपी कथित संतों/ बाबाओं के साथ भाजपा के वरिष्ठतम कहे जाने वाले नेताओं/ मुख्यमंत्रियों/ केंद्रीय मंत्रियों की नजदीकियों पर तंज कसते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख श्री मोहन भागवत से पूछा है कि, आखिरकार क्या कारण है कि आपके रिमोट से संचालित, मूल्यों-सिद्धान्तों की कथित पोषक, पार्टी-विद-ए डिफरेंस, ज्ञान, चरित्र और एकता सहित न मालूम किस-किस जुमलों से नवाजी जाने वाली भारतीय जनता पार्टी के अधिकांश बड़े कहे जाने वाले नेतागण राष्ट्रीय स्तर पर बदनुमा दाग बन चुके फर्जी, बलात्कारी, यौनाचार के आरोपी बाबाओं के नजदीकी पाये जा रहे हैं? 

क्या आप धर्म के प्रति वास्तव में सम्मान व्यक्त करने वाले उन सभी देशवासियों को यह बताने की स्थिति में हैं कि इन चरित्रहीनों से आपके ये नेता क्या ओर कौन सा आशीर्वाद लेते हैं? भागवत जी सिर्फ वोट के टुकड़ों के लिए ऐसे चरित्रहीनों के सामने आपके अनुचरों का आत्मसमर्पण कैसे और कौन से देश का निर्माण कर रहा है?

श्री मिश्रा ने राजस्थान अलवर के जगतगुरु रामानुजाचार्य कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी फलहारी बाबा के विरूद्व बिलासपुर (छत्तीसगढ़) की एक युवती द्वारा लगाये गये गंभीर यौन-शोषण के आरोप के बाद उनके साथ मप्र के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के साथ आरएसएस मुख्यालय, नागपुर में धर्म चर्चा करते हुए एवं राजस्थान से संबद्ध भाजपा के एक वरिष्ठ नेता की तस्वीर जारी करते हुए कहा कि क्या कारण है कि ऐसे फर्जी और दुष्कर्मी कथित संत बाबाओं के साथ भारतीय जनता पार्टी के ही नेता क्यों पाये जाते हैं? व्याभिचारी राम-रहीम, आशाराम, रामपाल, साक्षी महाराज के साथ अब राजस्थान अलवर के कथित संतों के साथ भाजपा के नेताओं की नजदीकियों को श्री भागवत किस रूप में लेते हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah