बैंक कर्मचारी ने मोदी से मांगी थी मदद, नहीं मिली तो आत्महत्या कर ली

26 September 2016

टीकमगढ़। मध्यांचल ग्रामीण बैंक की लिधौरा ब्रांच के कर्मचारी धीरेन्द्र जैन ने चेयरमैन आर राजशेखरन की प्रताणना से तंग आकर आत्महत्या कर ली। श्री जैन ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें उन्होंने अपनी पूरी पीड़ा बयां की है। सुसाइड करने से पहले श्री जैन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी पत्र लिखकर मदद मांगी थी। जब कहीं से कोई सहायता नहीं मिली तो तंग आकर श्री जैन ने सुसाइड कर लिया। 

शहर के हवेली रोड निवासी धीरेंद्र कुमार पिता बाबूलाल जैन 51 का सोमवार को नीमखेरा रोड गांव के देवी मंदिर के पास बने कुएं में शव मिला। जैन जिला मुख्यालय से करीब 35 किमी दूर लिधौरा के मध्यांचल ग्रामीण बैंक में कार्यालय सहायक के तौर पर पदस्थ थे। शनिवार और रविवार को अवकाश होने के कारण टीकमगढ़ स्थित घर पर थे। रविवार सुबह करीब 10.30 बजे वे बाइक से घर से निकले। रविवार को दोपहर तक जब घर नहीं लौटे तो परिजनों ने डायल 100 पर शिकायत दर्ज कराई। शाम करीब 4 बजे उनकी पत्नी प्रीति जैन ने कोतवाली में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रविवार देर रात तक पुलिस और परिजनों ने उनकी तलाश की।

कोतवाली टीआई आरपी चौधरी ने बताया कि परिजनों को घर में सुसाइड नोट मिला है। जिसमें मृतक ने बैंक के डीजीएम राजशेखरन पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। इसके पहले उन्होंने 2 माह का मेडिकल लिया था। 4 सितंबर को उन्होंने ज्वाइन किया था। मृतक के भाई सुनील जैन ने बताया कि अधिकारी की प्रताड़ना के बारे में उन्होंने पहले भी शिकायत दर्ज कराई थी। लेकिन, कार्रवाई नहीं की गई। वे डीजेएम से काफी समय से परेशान थे। रविवार को साधारण तौर पर घर से निकले और दोपहर तक नहीं लौटे। इस दौरान वे मोबाइल फोन घर पर छोड़ गए थे। काफी वक्त गुजर जाने के बाद भी जब वे नहीं लौटे तो कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई थी।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->