पुलिस की मदद करता था 12वीं का छात्र, नक्सलियों ने हत्या कर दी

Advertisement

पुलिस की मदद करता था 12वीं का छात्र, नक्सलियों ने हत्या कर दी

ताम्रकार/बालाघाट। विगत एक पखवाडे के अंतराल मे नक्सलवादियों ने गत रात्रि एक तीसरी बडी वारदात को अंजाम देकर अपनी निरंतर मौजुदगी का अहसास करा दिया है, पुलिस की मुखबिरी करने के संदेह मे 22 वर्षीय आदिवासी युवक रतिराम धुर्वे के सिर पर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। मृतक 12वीं कक्षा का छात्र था। उसके शव को सडक किनारे छोडकर नक्सली फरार हो गये।  

मृतक मलाजखण्ड थाना क्षेत्र के पाथरी पुलिस चौकी के लिमोटी गांव का निवासी था। पुलिस ने उसके शव को बरामद कर पाथरी पुलिस चौकी ले आई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज सोनी ने इस वारदात की पुष्टि की, यह उल्लेखनीय है कि गत 7 अप्रैल को लिमोटी गांव के जंगल में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड हुई थी, मुखबिरी के शक मे नक्सली 2 लोगों को जंगल ले गये थे जिसमे 1 किसी तरह नक्सलियों के चंगुल से भाग निकला।

मृतक रतिराम की मां ने बताया की उसका बेटा शुक्रवार की रात से घर नही पहुंचा, गांव वालों से पता चला की उसके बेटे की लाश रास्ते में मंदिर के किनारे पडी हुई है तभी बेटे के मरने की जानकारी मिली, उसके घर मातम छाया हुआ है। श्री नीरज सोनी ने अवगत कराया की इस वारदात के बाद पुलिस ने जंगल मे सर्चिंग बढाकर नक्सलियों की तलाश की जा रही है।