NO RE-NEET सरकार के फैसले के विरुद्ध स्टूडेंट्स का प्रोटेस्ट शुरू - HINDI NEWS

भारत सरकार द्वारा NEET-PG 2024 परीक्षा को कैंसिल कर दिया गया। कांग्रेस पार्टी और कई पॉलिटिकल पार्टियों इसकी मांग कर रही थी। NTA SCAM सरकार के लिए परेशानी बनता जा रहा था। इसलिए सरकार ने मांग को पूरा करते हुए परीक्षा को कैंसिल कर दिया है परंतु अब सरकार के इस फैसले के खिलाफ प्रोटेस्ट शुरू हो गया है। स्टूडेंट्स का कहना है कि हमने कोई गलती नहीं की और हम दोबारा परीक्षा देने के लिए तैयार नहीं है। सोशल मीडिया पर #NO_RE_NEET ट्रेंड करने की कोशिश की जा रही है। 

जब सब परीक्षा केंद्र आ गए तब परीक्षा निरस्त क्यों की

NEET-PG परीक्षा स्थगित होने पर, एक अभ्यर्थी ज्योत चौहान ने कहा, NTA (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) ने आखिरी समय में, 10 घंटे पहले बताया कि परीक्षा स्थगित कर दी गई है। अगर उन्हें परीक्षा को पुनर्निर्धारित करना ही था, तो उन्हें कुछ दिन पहले इसकी घोषणा करनी चाहिए थी। उन्होंने परीक्षा केंद्रों को ठीक से वितरित नहीं किया, उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र के रूप में बहुत दूर की जगहें दी गईं। वडोदरा के छात्रों के परीक्षा केंद्र नासिक और मध्य प्रदेश में थे और फिर जब वे वहां पहुंचे, तो उन्हें बताया गया कि परीक्षा स्थगित कर दी गई है। सभी को बहुत परेशानी हो रही है। कई विद्यार्थियों का घर से परीक्षा केंद्र तक आने में कम से कम ₹10000 खर्च हो गया है। 

NTA SCAM लगातार जारी है

वहीं, नीट-पीजी परीक्षा स्थगित होने पर यूनाइटेड डॉक्टर्स फ्रंट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ लक्ष्य मित्तल ने भी अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा, कल होने वाली नीट-पीजी परीक्षा को अंतिम समय में रद्द कर दिया गया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में उल्लेख किया है कि परीक्षा की सत्यनिष्ठा और संवेदनशीलता को देखते हुए इसे स्थगित किया गया है। नीट-यूजी के बाद यह एक और घोटाला है। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों ने विभिन्न राज्यों की यात्रा की है और परीक्षा निर्धारित समय से 10 घंटे पहले इसे रद्द करना डॉक्टरों की भावनाओं से खेलने से कम नहीं है। नीट पीजी और नीट यूजी दोनों के संचालन अधिकारियों की जांच होनी चाहिए। भारत की चिकित्सा शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर दिया गया है। नीट-यूजी मामले की सीबीआई जांच एक सराहनीय कदम है।

हमने छात्रों के हित में फैसला लिया है - भारत सरकार

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि NEET-PG की परीक्षा को कैंसल करने का फैसला छात्रों के सर्वोत्तम हित में और परीक्षा प्रक्रिया को सही बनाए रखने के लिए लिया गया है। सरकार ने नीट-यूजी और यूजीसी-नेट परीक्षाओं के आयोजन में अनियमितताओं के आरोपों के मद्देनजर राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी के प्रमुख सुबोध कुमार सिंह को शनिवार रात को उनके पद से हटा दिया। फिलहाल उनके स्थान पर 1985 बैच के सेवानिवृत्त अधिकारी प्रदीप सिंह करोला को अगले आदेश तक उनके स्थान पर नियुक्त किया गया है। 

विनम्र निवेदन🙏कृपया हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। सबसे तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें एवं हमारे व्हाट्सएप कम्युनिटी ज्वॉइन करें। इन सबकी डायरेक्ट लिंक नीचे स्क्रॉल करने पर मिल जाएंगी। रोजगार एवं शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण समाचार पढ़ने के लिए कृपया स्क्रॉल करके सबसे नीचे POPULAR Category 2 में CAREER पर क्लिक करें।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !