MP NEWS - विदिशा में जहरीले धुएं के बादल, केमिकल फैक्ट्री में आग लगी, इलाका खाली, AQI का पता नहीं

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नजदीक विदिशा में कीटनाशक दवा बनाने वाली केमिकल फैक्ट्री में आग लग जाने के कारण चारों तरफ जहरीले धुएं के बादल दिखाई देने लगे हैं। फैक्ट्री में 5 घंटे तक आग जलती रही और जहरीला धुआं निकलता रहा। यह किस दिशा में गया है और इसने कितना इलाका प्रभावित किया है, फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। AQI - एयर क्वालिटी इंडेक्स नहीं है और कोई भी दावे के साथ नहीं कह सकता है कि प्रभावित इलाका मनुष्यों के रहने के लायक है या नहीं। यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि, केमिकल गैस लीक, केमिकल विस्फोट और जहरीले कैमिकल में आज के कारण पर्यावरण लंबे समय तक प्रभावित रहता है और इसकी चपेट में आने वाले लोगों को कई दिनों बाद पता चलता है जब वह बीमार होते हैं।

जहरीला केमिकल 5 घंटे तक जलता रहा

यूनिकल पेस्टिसाइड्स फैक्ट्री, इंडस्ट्रियल एरिया विदिशा में स्थित है। सुबह 7:00 बजे फैक्ट्री में से धुआं निकलता हुआ दिखाई दिया। आग तेजी से बढ़ती चली गई। आसपास के 9 शहरों से फायर ब्रिगेड कॉल की गई। दोपहर 12:00 बजे जब आग पर काबू पाया गया, टोटल 15 फायर ब्रिगेड मौजूद थी। पिछले 5 घंटे में पूरे इलाके में केमिकल का धुआं के कारण आसमान काला हो गया। लोगों को किसी भी गंभीर स्थिति से बचने के लिए फैक्ट्री के आसपास का इलाका खाली करवा दिया गया। इस फैक्ट्री में पेस्टीसाइड यानी कीड़ों को मारने की दवाई बनाई जाती है। 

स्वास्थ्य पर कोई दूरगामी प्रभाव तो नहीं पड़ेगा

भेल भोपाल की टीम इलाके की सर्चिंग कर रही है। यह जानने का प्रयास किया जा रहा है कि, केमिकल में आग लगने के कारण आसपास के पर्यावरण की क्या स्थिति है और क्या लोगों को वापस बुलाया जा सकता है। कहीं ऐसा तो नहीं कि उनके स्वास्थ्य पर कोई ऐसा गंभीर प्रभाव पड़े जो कई दिनों बाद दिखाई देगा। जैसा कि अक्सर केमिकल गैस लीक और केमिकल बम विस्फोट के मामले में होता है। 

फैक्ट्री में 800 से ज्यादा केमिकल टैंक

प्रत्यक्षदर्शी गोलू शर्मा ने बताया, मेरा घर यहीं पास में ही है। फैक्ट्री में आग इतनी भयानक लगी है कि डर था कहीं केमिकल से फैलते हुए ये आसपास के घरों को चपेट में न ले लें। आग कैसे लगी ये तो नहीं पता लेकिन यहां 800 से ज्यादा केमिकल की टंकियां हैं। इनमें से कुछ टंकियां ब्लास्ट हो गई थी, जिससे आग और ज्यादा फैल गई।

फैक्ट्री से निकला धुआं जहरीला है, पुलिस अधीक्षक ने बताया

एसपी दीपक शुक्ला ने बताया कि आग की वजह से जो काला धुआं उठ रहा है वह जहरीला है। उससे बचने के लिए लोगों को हिदायत दी गई है। ये धुआं 10 किमी दूर से भी दिख रहा है। फैक्ट्री में बड़ी संख्या में ड्रमों में केमिकल भरा रखा है। इसी केमिकल से आग फैल रही है। जेसीबी की मदद से फैक्ट्री की बाउंड्रीवॉल तोड़कर बचे हुए केमिकल के ड्रमों को बाहर निकल गया। इसके कारण खतरा थोड़ा काम हुआ है लेकिन खत्म नहीं हुआ है। 

आग तो बुझ गई लेकिन पर्यावरण की शुद्धि के लिए क्या करेंगे 

स्थानीय पुलिस अधिकारियों द्वारा आग के बुझ जाने, और स्थिति के नियंत्रण में आ जाने की घोषणा कर दी गई है परंतु सबसे बड़ा सवाल यह है कि केमिकल वाले जहरीले धुएं के कारण पर्यावरण को जो नुकसान पहुंचा है, उसकी भरपाई कैसे होगी। किस आधार पर कहा जा सकता है कि इलाका खतरे से मुक्त हो गया है और हवा में ऐसा कुछ भी नहीं है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो। विदिशा जिला प्रशासन द्वारा एयर क्वालिटी को चेक करने के लिए अभी तक कोई प्रबंध नहीं किए गए हैं। लोग अपने घरों से बाहर हैं और वापस जाना चाहते हैं।

भोपाल में बच्चे भी बीमार पैदा हुए थे 

भोपाल गैस कांड दुनिया की सबसे बड़ी त्रासदी है। गैस के कारण जितने लोगों की मृत्यु हुई थी उससे कहीं ज्यादा लोग गैस के प्रभाव के कारण बीमार हो गए थे। गैस प्रभावित लोगों के बच्चे भी बीमार पैदा हुए थे।

विनम्र अनुरोध 🙏कृपया हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। सबसे तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें एवं हमारे व्हाट्सएप कम्युनिटी ज्वॉइन करें। इन सबकी डायरेक्ट लिंक नीचे स्क्रॉल करने पर मिल जाएंगी। मध्य प्रदेश के महत्वपूर्ण समाचार पढ़ने के लिए कृपया स्क्रॉल करके सबसे नीचे POPULAR Category में Madhyapradesh पर क्लिक करें।
--- ---

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !