P NARHARI IAS एवं महिला की शिकायत पर मामला दर्ज, कूटरचित चैट वायरल होने का मामला

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के सचिव श्री परिकिपंडला नरहरि (भारतीय प्रशासनिक सेवा) एवं एक महिला की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ कूटरचित चैट बनाकर वायरल करने का मामला दर्ज कर लिया गया है। भोपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच द्वारा इसकी जानकारी दी गई। 

घटनाक्रम का विवरण संक्षिप्त में

इंटरनेट पर विभिन्न माध्यमों से मोबाइल छत के कुछ स्क्रीनशॉट वायरल हो रहे थे। इसमें प्रदर्शित किया गया था कि पी नरहरि आईएएस अधिकारी और एक महिला के बीच यह चैट हो रही है। चैटिंग के दौरान जिस प्रकार का संवाद हो रहा था वह सामाजिक और आपत्तिजनक था। पद के दुरुपयोग का मामला भी लग रहा था। इसी दौरान श्री पी नरहरि ने भोपाल के पुलिस कमिश्नर श्री हरि नारायणचार्य मिश्र को लिखित शिकायत करते हुए बताया कि, वायरल हो रहे स्क्रीनशॉट कूटरचित है। उन्होंने इस प्रकार की कोई चैटिंग नहीं की और उनके मोबाइल फोन में इस प्रकार की चैटिंग का कोई रिकॉर्ड नहीं है। जिस महिला के साथ चैटिंग हो रही थी उसने भी शिकायत की और बताया कि उसने भी ऐसा कुछ नहीं किया है और उसके मोबाइल में ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है। प्राथमिक जांच के बाद क्राइम ब्रांच पुलिस ने आईपीसी की धारा 469 (जाली इलेक्ट्रोनिक दस्तावेज़ किसी पक्ष की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाना) एवं धारा 500 (बदनाम करना) के तहत मामला दर्ज कर दिया है। 

आईएएस अधिकारी ऑफिस की पॉलिटिक्स का शिकार

श्रुतकीर्ति सोमवंशी डीसीपी क्राइम ब्रांच एवं अन्य पुलिस अधिकारियों का कहना है कि श्री पी नरहरि आईएएस अधिकारी द्वारा पूछताछ के दौरान अपने ऑफिस के कुछ लोगों पर शक जताया गया है। ऐसे सभी लोगों को पूछताछ के लिए राउंडअप किया। पुलिस का कहना है कि जल्द ही मामले का खुलासा हो जाएगा। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !