भोपाल कलेक्ट्रेट में महिला संविदा कर्मचारी का कार्यस्‍थल पर लैंगिक उत्‍पीड़न का मामला - NEWS

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के कलेक्टर कार्यालय में एक महिला संविदा कर्मचारी का कार्य स्थल पर लैंगिक उत्पीड़न का मामला सामने आया है। शिकायत के बाद आंतरिक परिवाद समिति द्वारा मामले की जांच की गई। समिति की प्रभारी एवं निफ्टी कलेक्टर अर्चना शर्मा ने अपनी रिपोर्ट कलेक्टर भोपाल को सौंप दी है। 

उत्पीड़न तो हुआ है लेकिन कार्रवाई नहीं चाहती, शिकायतकर्ता महिला कर्मचारी ने कहा 

शिकायत के बाद कलेक्टर द्वारा गठित की गई परिवाद समिति द्वारा जब बयान दर्ज किए गए तो शिकायतकर्ता महिला संविदा कर्मचारी ने कार्यस्‍थल पर उसका लैंगिक उत्‍पीड़न करने वाले अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने का निवेदन किया। उत्पीड़न करने वाले अधिकारी को समझाइश देकर मामला खत्म कर देने का निवेदन किया। हालांकि महिला कर्मचारी ने परिवाद समिति के समक्ष यह नहीं कहा कि उसने झूठी शिकायत की है अथवा उसका उत्पीड़न नहीं हुआ। जबकि आरोपी अधिकारी द्वारा दावा किया गया कि, काम करने का दावा बनाया है इसलिए महिला कर्मचारी ने उत्पीड़न की शिकायत कर दी है। 

कलेक्टर के फैसले पर सबकी नजर

आंतरिक परिवाद समिति की प्रभारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अर्चना शर्मा ने सभी संबंधित के बयान दर्ज करने के बाद जांच रिपोर्ट कलेक्टर भोपाल को सौंप दी है। भोपाल कलेक्टर के स्टाफ ने रिपोर्ट मिल जाने की पुष्टि की है। आप सब की नजर कलेक्टर के फैसले पर है। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !